गोरखपुर: पिता के दहेज मांगने पर लड़के ने थाने में रचाई शादी

गोरखपुर। शादी तय होने के बाद लड़के के पिता को लड़की पक्ष से दहेज मांगना महंगा पड़ गया। दहेज मांगने से नाराज होकर युवक और युवती थाने पहुंच गए। बाद में पुलिस के प्रयास से थाना परिसर में ही दोनों ने शादी कर ली। दहेज के खिलाफ उठाए गए युवक-युवती के इस कदम की चारों ओर सराहना की जा रही है।

गगहा थाना क्षेत्र के बरवालदिगर गांव के हीरालाल के बेटे सतीश कुमार की शादी गोला क्षेत्र के देवारीबारी गांव की खुशबू के साथ दो माह पहले ही तय हुई थी। उनकी शादी की तारीख 24 अप्रैल निर्धारित की गई थी। इस बीच लड़के पक्ष के लोग दहेज की मांग करने लगे। दहेज की मांग पूरी करने में सक्षम नहीं होने पर लड़की के पिता ने रिश्ता तोड़ कर दूसरी जगह शादी तय कर दी थी। जब इसकी जानकारी लड़के-लड़की को हुई तो दोनों ने एक-दूसरे से बात की। सुबह दोनों घर से भाग कर शादी करने के लिए निकल गए, इसकी जानकारी जब लड़की के पिता को हुई तो उन्होंने इसकी सूचना गोला पुलिस को दी।

सच्चे प्यार की फैन हुई पुलिस, थाने में कराई धूमधाम से शादी

गोला पुलिस ने लड़के से संपर्क कर उसे थाने पर बुलाया। लड़के के साथ लड़की भी थाने पर पहुंच गई। दोनों पुलिस और परिजनों के सामने शादी करने पर अड़ गए। लड़के का कहना था कि वह बालिग है और वह अपनी मर्जी से शादी कर सकता है। वहीं लड़की ने भी बालिग होने की बात कही और शादी न होने पर जान देने को कहा।

चुनरी-पियरी मंगा कराई शादी
मामले की गंभीरता को भांपते हुए सीओ गोला प्रशांत सिंह, कोतवाल, इंस्पेक्टर आदि ने दोनों पक्ष को समझा-बुझाकर शादी के लिए राजी करवा लिया। थाने में ही लड़के पक्ष के लोगों ने चुनरी, पियरी मंगवाई और परिसर में स्थित मंदिर में उनकी शादी करवा दी।

समाज को सतीश ने आईना दिखाया
फिलहाल सतीश और खुशबू की शादी से यह दोनों ही नहीं पूरा क्षेत्र खुश है और दोनों के हिम्मत और मंसूबों की लोग बड़ाई कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि समाज को सतीश ने आईना दिखाया है। अगर ऐसे ही सभी लड़के ठान लें तो आने वाले समय में दहेज प्रथा खत्म हो जाएगी और समाज को नई दिशा भी मिल जाएगी।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani