भोपाल: डेढ़ साल में बनकर तैयार हो जाएगा राष्ट्रीय मानसिक पुनर्वास केंद्र

भोपाल: डेढ़ साल में बनकर तैयार हो जाएगा राष्ट्रीय मानसिक पुनर्वास केंद्रVIDEO: अस्पताल को यूं चकमा देकर फरार हुआ कैदी, CCTV में हुआ कैदअंधाधुंध फायरिंग में महिला की मौत, दो गंभीर रूप से घायलपद्मावत रिलीज के 17 दिन बाद एमपी में ‘फर्स्ट डे फर्स्ट शो’पेड़ से टकराई कार, दो की दर्दनाक मौत चार घायल

भोपाल: डेढ़ साल में बनकर तैयार हो जाएगा राष्ट्रीय मानसिक पुनर्वास केंद्र

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में राष्ट्रीय मानसिक पुनर्वास केंद्र की स्थापना की जाएगी. इसपर करीब 180 करोड़ रुपए की लागत आएगी. यह केंद्र अगले डेढ़ साल में बनाने का लक्ष्य रखा गया है. समावेशी भारत कार्यशाला में शिरकत करने आए केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने बताया कि इसमें सवा सौ बेड होंगे.

थावरचंद गहलोत ने बताया कि यह सेंटर विश्वस्तरीय सुविधाओं से भी लैस होगा. यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर के उपकरण व अन्य संसाधन होंगे, जिससे मनोरोगियों को बेहतर एवं सस्ता इलाज मुहैया कराया जाएगा. इसके निर्माण के बाद ऐसे लोगों उपचार के लिए अन्य राज्यों में नहीं जाना पड़ेगा.

गौरतलब है कि प्रदेश के लोग बड़ी तेजी से मानसिक रोगों की गिरफ्त में आ रहे हैं. ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (एम्स) और भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल में हर रोज मनोरोग और डिप्रेशन के 50 से ज्यादा मरीज पहुंच रहे हैं.

वहीं पिछले वर्ष नेशनल मेंटल हेल्थ प्रोग्राम के तहत राज्य में हुए मानसिक स्वास्थ्य सर्वे की रिपोर्ट के मुताबिक बीते साल प्रदेश के छह लाख लोग अलग-अलग तरह के मानसिक दिक्कतों से पीड़ित थे.

इंदौर, खरगौन, गुना और छिंदवाड़ा जिलों की तो कुल आबादी का करीब 14 प्रतिशत हिस्सा विभिन्न तरह के मानसिक रोगों की चपेट में था. सर्वे में आने वाले दिनों में ऐसे रोगियों की संख्या निरंतर बढ़ने की आशंका जताई जा रही है.

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter