मनिपाल-टीपीजी ने संयुक्त रुप से अपने संशोधित प्रस्ताव की वैलिडिटी बढ़ाई

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। मणिपाल-टीपीजी गठबंधन ने कहा है कि उसने 6 जून, 2018 को फोर्टिस हेल्थकेयर के लिए अपने संशोधित प्रस्ताव की वैधता (वैलेडिटी) बढ़ा दी है। 17 मई को मलेशिया की फर्म आईएचएच हेल्थकेयर बरहद ने फोर्टिस के लिए अपने संशोधित प्रस्ताव की स्वीकृति अवधि को बढ़ाकर 29 मई कर दिया था।

फोर्टिस हेल्थकेयर लिमिटेड के डायरेक्टर को लिखे पत्र में मनिपाल और टीपीजी ने संयुक्त रूप से कहा है कि वो समझता है कि एफएचएल बोर्ड अभी भी संशोधित नए प्रस्ताव पर विचार करने की प्रक्रिया में है। इस पत्र में कहा गया, “जैसा कि आप जानते हैं हमारा संशोधित नया प्रस्ताव 29 मई 2018 तक वैलिड है ऐसे में हमारे संशोधित ऑर्डर पर गौर करने के लिए फोर्टिस बोर्ड के पास पर्याप्त समय है।”

मनिपाल टीपीजी ने संयुक्त रुप से अपने बयान कहा कि हमारा संशोधित नया प्रस्ताव एफएचएल बोर्ड की ओर से स्वीकृति और एफएचएल के शेयरधारकों की सिफारिशों के लिए 6 जून, 2018 तक पूरी तरह से वैध और बाध्यकारी रहेगा। इस पत्र में कहा गया है कि अगर यह प्रस्ताव एफएचएल बोर्ड की ओर से या फिर कंपनी के शेयरधारकों की ओर से निर्धारित स्वीकार्य समय तक स्वीकार नहीं किया जाता है तो प्रस्ताव स्वचालित रूप से निरस्त कर दिया जाएगा एवं समाप्त कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि इससे पहले 14 मई को मनिपाल टीपीजी ने संयुक्त रुप से अपने प्रस्ताव को और सुधार कर फोर्टिस के प्रति शेयर के लिए 180 रुपये कर दिया था, इसी के साथ ही इस हेल्थकेयर कंपनी की वैल्युएशन बढ़कर 9,403 करोड़ रुपये हो गई थी।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani