‘सचिन तेंदुलकर को उस मैच में lbw नहीं, sbw आउट दिया जाना चाहिए था’, जानिए क्यों

दावोस : Sachin Tendulkar sbw Out: भारतीय टीम के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को एक मैच में कंधे के बाद हेल्मेट पर गेंद लगने से lbw आउट दे दिया गया था। अब इसी मैच को लेकर ऑस्ट्रेलियाई टीम के दिग्गज पूर्व तेज गेंदबाज ग्लेन मैग्रा (Glenn McGrath) ने कहा है कि सचिन तेंदुलकर को उस मैच में lbw नहीं, sbw आउट दिया जाना चाहिए था।

दरअसल, साल 1999 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारतीय टीम की कप्तानी कर रहे मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर एडिलेड ओवल में ग्लेन मैकग्रा के बाउंसर पर एलबीडब्ल्यू आउट दिए जाने से काफी नाराज थे और अब ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने भी स्वीकार किया कि इस भारतीय स्टार सचिन तेंदुलकर को तब एलबीडब्ल्यू नहीं, बल्कि एसबीडब्ल्यू आउट दिया जाना चाहिए था।

अपनी सटीक लाइन लेंथ वाली गेंदबाजी के लिए फेमस रहे मैकग्रा ने तेंदुलकर के साथ अपनी मैदानी जंग की कुछ घटनाओं को याद करते हुए दिसंबर 1999 की उस घटना को भी याद किया जब उनका नीचा रहता हुआ बांउसर सचिन के कंधे से लगा और अंपायर डेरल हार्पर ने उन्हें एलबीडब्ल्यू आउट दे दिया। तेंदुलकर इस फैसले से खुश नहीं थे। मैकग्रा ने कहा, “क्या यह एलबीडब्ल्यू था। शायद यह एसबीडब्ल्यूए (शोल्डर बिफोर विकेट) होना चाहिए था।”

कंगारू दिग्गज ने कहा है, “सचिन बल्लेबाजी कर रहे थे और अभी उन्होंने क्रीज पर कदम ही रखा था और खाता नहीं खोला था। मैंने उन्हें बाउंसर किया और सचिन लंबे कद के खिलाड़ी नहीं हैं। बाउंसर अमूमन उसके सिर के ऊपर से निकल जाता है, लेकिन उस दिन उसमें ज्यादा उछाल नहीं थी। वह नीचे झुक गए और गेंद उसके कंधे पर लगी। वह लंबे कद के नहीं हैं, इसलिए जब नीचे झुके तो मैंने देखा कि गेंद बीच के स्टंप को हिट कर रही थी। इसलिए मैंने अपील की और अंपायर ने उन्हें आउट दे दिया। क्या यह एलबीडब्ल्यू था। शायद यह एसबीडब्ल्यूए होना चाहिए था।”

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter