कोहली से सिर्फ इंग्लिश टीम ही नहीं पूर्व खिलाड़ी भी खा रहे हैं खौफ, जानिए क्यों?

बर्मिंघम: कुछ ही घंटों के बाद भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज़ की शुरुआत हो जाएगी। वो सीरीज़ जिसका इंतज़ार न सिर्फ पूर्व क्रिकेटर कर रहे थे बल्कि दुनिया भर के फैंस भी इन दो टीमों की ज़ंग देखने के लिए बेकरार थे। इस बड़ी सीरीज़ से पहले जहां इंग्लैंड की टीम का पलड़ा भारी माना जा रहा है। इसकी वजह ये है कि इंग्लैंड में भारतीय टीम का प्रदर्शन सफेद कपड़ों की क्रिकेट में कुछ खास नहीं रहा है। भारत ने 11 साल पहले इंग्लैंड में आखिरी बार टेस्ट सीरीज़ जीती थी वो भी राहुल द्रविड़ की कप्तानी में।

इंग्लैंड को भले ही इस सीरीज़ के लिए फेवरेट माना जा रहा हो, लेकिन असली इम्तिहान तो विराट कोहली के लिए होगा। कोहली कदा इंग्लैंड में प्रदर्शन काफी खराब रहा है, लेकिन वोे चार साल पहले की बात थी। इन चार सालों में कोहली ने दुनियाभर में रन बनाए हैं और अपने नाम का डंका चारों और बजवाया है। इसके साथ ही साथ वो एक खिलाड़ी के तौर पर और ज्यादा परिपक्व हो गए हैं। यही वजह है कि इंग्लैंड की टीम के फेवरेट होने के बावजूद भी पूर्व इंग्लिश कप्तान माइकल वॉन ने अपनी टीम को विराट कोहली से सतर्क रहने के साथ-साथ उनसे निपटने का उपाय भी बताया है।

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने अपने खिलाड़ियों को विराट कोहली के खिलाफ आक्रामक होकर चुनौती देने को कहा है। वॉन ने कहा कि अनुभवी एलिस्टेयर कुक को निरंतरता दिखानी होगी और कप्तान जो रूट को अपनी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलना होगा। इंग्लैंड की टीम इस मैच में पांच गेंदबाजों के साथ उतरे। उन्होंने इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों स्टुअर्ट ब्रॉड और जेम्स एंडरसन को विराट कोहली को फ्रंट फुट पर चुनौती पेश करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि हेडिंग्ले टेस्ट (पाकिस्तान के खिलाफ) से पहले मैंने उनकी आलोचना की थी। उन्होंने मैच में शानदार प्रदर्शन किया और वे फिर से अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

इससे पहले इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ग्राहम गूच ने भी इंग्लैंड की टीम को कोहली से आगाह किया था। गूच ने कहा था कि आगामी टेस्ट सीरीज में विराट कोहली का अच्छे प्रदर्शन करने का जज्बा मेजबान टीम के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। गूच के मुताबिक, कोहली इस समय शीर्ष रैंकिंग वाले खिलाड़ी हैं और मेरा मानना है कि वह इंग्लैंड के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं क्योंकि वह इंग्लैंड में अपना रिकॉर्ड सुधारने के लिए अतिरिक्त प्रयास करेंगे।

इंग्लैंड की घरती पर कोहली का प्रदर्शन उम्मीदें के मुताबिक नहीं रहा है। इंग्लैंड में वो एक भी टेस्ट शतक तो दूर अर्धशतक तक नहीं लगा पाए हैं। यहां खेले पांच टेस्ट की 10 पारियों में उनका बल्लेबाजी औसत सिर्फ 13.4 का है। इन दस पारियों में उनके बल्ले से सिर्फ 134 रन निकले हैं। इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 39 रन का है

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter