इनकी जगह किसी अन्य ओपनर विकल्प के बारे में सोचना चाहिए टीम इंडिया को

नई दिल्ली: इंग्लैंड के खिलाफ बुधवार से भारतीय टीम अपने टेस्ट सीरीज का आगाज करेगी। इस टेस्ट सीरीज में टीम कांबिनेशन कप्तान विराट व भारतीय टीम मैनजमेंट के लिए बड़ी चुनौती होगी। भारत की तरफ से ओपनिंग बल्लेबाजी की जिम्मेदारी किन पर होगी ये भी एक बड़ा सवाल है। हालांकि एक आम राय ये है कि मुरली विजय के साथ शिखर धवन ही पारी की शुरुआत करेंगे लेकिन क्या धवन इंग्लैंड के खिलाफ पारी की शुरुआत करने के मामले में सही बल्लेबाज होंगे।

शिखर धवन एक अच्छे बल्लेबाज हैं और वो टेस्ट, वनडे व टी20 में भारतीय टीम के लिए ओपन करते हैं। इस बार भारतीय टीम को इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम के खिलाफ उनकी धरती पर टेस्ट सीरीज खेलनी है। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतना हमेशा ही भारतीय टीम के लिए बड़ी चुनौती रही है। ऐसे अहम मौके पर धवन की जगह टीम इंडिया को किसी अन्य बल्लेबाज को आजमाना चाहिए। इंग्लैंड में धवन का बल्ला ज्यादा चल नहीं पाता। ये रिकॉर्ड से भी जाहिर हो जाता है। अभ्यास मैच में भी धवन ने एसेक्स के खिलाफ दोनों पारियों में निराश किया था और अपना खाता भी नहीं खोल पाए थे।

शिखर धवन दूसरी बार इंग्लैंड दौरे पर आए हैं। पहली बार वो इंग्लैंड दौरे पर वर्ष 2014 में कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की अगुआई में आए थे। इस दौरे पर दोनों टीमों के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेली गई थी और धवन को तीन मैचों में खेलने का मौका मिला था। इन तीनों मैचों में धवन के बल्ले से रन नहीं निकले और उन्हें बाद के दो मैचों में ड्रॉप कर दिया गया। धवन ने तीन टेस्ट मैचों की छह पारियों में 12,29,7,31,6,37 रन की पारी खेली थी। यानी उनके बल्ले से किसी भी पारी में कोई बड़ा स्कोर नहीं निकला।

इस वर्ष की शुरुआत में भारत व दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेली गई थी जिसमें भारत को 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था। इस टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में शिखर धवन को ओपनर के तौर पर टीम में जगह दी गई थी लेकिन उन्होंने इस मैच में निराश किया। पहले टेस्ट की दोनों पारियों में धवन ने 16,16 रन बनाए। इस मैच में भारत को दक्षिण अफ्रीका ने 72 रन से हराया था। उनके इस प्रदर्शन के बाद उन्हें अगले दो टेस्ट मैच से बाहर कर दिया गया था।

इंग्लैंड में धवन के पिछले रिकॉर्ड और अभ्यास मैच में उनके प्रदर्शन के बाद इस पर संशय जरूर है कि टेस्ट सीरीज में अगर उन्हें ओपनिंग बल्लेबाजी की जिम्मेदारी दी जाती है तो वो अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे या नही्ं। अगर वो जल्दी आउट हो जाते हैं तो इसका दबाव जाहिर तौर पर टीम पर आएगा और इतने अहम मैच में टीम ये जरूर चाहेगी कि उन्हें अच्छी शुरुआत मिले।

लोकेश राहुल ओपनर के तौर पर अच्छा प्रदर्शन करते हैं लेकिन जब उनका बैटिंग आर्डर बदला जाता है तो उनके प्रदर्शन पर फर्क पड़ जाता है।

लोकेश इस वक्त अच्छे फॉर्म में हैं और अंतिम ग्यारह में उन्हें टीम में जरूर जगह दी जा सकती है। अगर उन्हें धवन की जगह ओपनिंग का मौका दिया जाता है तो वो अच्छी पारी खेल टीम को मजबूत शुरुआत दिला सकते हैं। अभ्यास मैच में भी राहुल ने शानदार बल्लेबाजी की थी। ऐसे में फिलहाल भारत के पास ओपनर्स के तौर पर मुरली विजय के साथ लोकेश राहुल सबसे अच्छे विकल्प साबित हो सकते हैं।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter