कोर्ट पर मैं और साइना कड़े प्रतिद्वंद्वी: सिंधु

नयी दिल्ली : रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता पीवी सिंधु ने दिग्गजों के मुकाबले में साइना नेहवाल को सीधे गेम में हरा कर इंडिया सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया. सिंधु ने रोमांचक मुकाबले में बेहतरीन प्रदर्शन करके दिखा दिया कि वह भारतीय बैडमिंटन की क्वीन क्यों कही जाती है. उसने साइना को 47 मिनट तक चले मुकाबले में 21-16, 22-20 से मात दी.

तीसरी वरीयता प्राप्त सिंधु अब टूर्नामेंट में अकेली भारतीय चुनौती बची है. पुरुष एकल में समीर वर्मा को डेनमार्क के एंडर्स एंटोंसेन ने क्वार्टर फाइनल में 24-22, 21-19 से मात दी. चाइना ओपन चैंपियन सिंधु अब कोरिया की दूसरी वरीयता प्राप्त सुंग जि ह्यून से खेलेगी, जिसके खिलाफ उसका रिकॉर्ड 6-4 का है, लेकिन पिछली बार दुबई सुपर सीरीज फाइनल्स में सिंधु को पराजय झेलनी पड़ी थी.
लंदन ओलिंपिक कांस्य पदक विजेता साइना ने सिंधु को रोकने की भरसक कोशिश की, लेकिन उसका हर प्रयास नाकाम रहा. घुटने की चोट से उबरने के बाद वापसी की कोशिश में जुटी साइना ने कुछ अच्छे स्ट्रोक्स लगाये. पहला गेम हारने के बाद उसने वापसी की पूरी कोशिश की, लेकिन उसकी एक सर्विस पर शटल नेट में चली गयी और एक लाइन कॉल पर उसने गलती करके दूसरा गेम भी गंवा दिया.
सिंधु ने कहा : कुल मिला कर यह अच्छा मैच था. वह शुरू में आगे चल रही थी, लेकिन मुझे हमेशा खुद पर भरोसा था. मैंने कोई शटल नहीं छोड़ी. जब साइना 20-19 से आगे थी, तब भी मुझे यकीन था कि मैं जीत सकती हूं. लंदन ओलिंपिक कांस्य पदक विजेता साइना और सिंधु ने इससे पहले सिर्फ एक अंतरराष्ट्रीय मैच एक-दूसरे के खिलाफ खेले थे और 2014 सैयद मोदी टूर्नामेंट में साइना ने वह मैच सीधे गेम में जीता था.
इस साल की शुरुआत में प्रीमियर बैडमिंटन लीग में उनका सामना हुआ, जिसमें सिंधु ने जीत दर्ज की. इंडियन बैडमिंटन लीग 2013 में साइना ने सिंधु को हराया था. इससे पहले दूसरी वरीयता प्राप्त कोरिया की सुंग जि ह्यून ने गत चैंपियन पांचवीं वरीयता प्राप्त रेत्चानोक इंतानोन को 21-16, 22-20 से मात दी. वहीं चौथी वरीयता प्राप्त जापान की अकाने यामागुची ने पूर्व ऑल इंग्लैंड चैंपियन नोजोमी ओकुहारा को 21-13, 11-21, 21-18 से हराया. पुरुष एकल में दो बार के उपविजेता डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसन ने चीनी ताइपै के जू वेइ वांग को 19-21, 21-14, 21-16 से हरा कर सेमीफाइनल में जगह बनायी.

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani