पीएम मोदी का विपक्ष पर वार, कहा- कुछ दलों को केवल अपना वोटबैंक ही नजर आता है

देहरादून । पीएम नरेंद्र मोदी ने आज उत्‍तराखंड को विकास की नई ऊंचाईयों पर ले जाने के लिए कई बड़ी योजनाओं की शुरुआत की है। उन्‍होंने 18 हजार करोड़ की विकास परियोजनाओं का शिलान्‍यास किया। इस दौरान जिस विशाल रैली को वो संबोधित कर रहे हैं उसको विजय संकल्‍प रैली का नाम दिया गया है। इस रैली के जरिए पीएम मोदी यहां पर पार्टी का चुनावी शंखनाद भी कर रहे हैं।

इससे पहले उन्‍होंने एक ट्वीट कर कहा था कि:- देवभूमि उत्तराखंड की विकास यात्रा में कल एक स्वर्णिम अध्याय जुड़ेगा। देहरादून में दोपहर 1 बजे मुझे 18 हजार करोड़ रुपये की कई परियोजनाओं के उद्घाटन और शिलान्यास का सौभाग्य प्राप्त होगा। इनमें दिल्ली-देहरादून आर्थिक गलियारा समेत कई प्रोजेक्ट शामिल हैं।

PM आने वाले 5 वर्ष उत्तराखंड को रजत जयंती की तरफ ले जाने ले हैं। ऐसा कोई लक्ष्य नहीं है, जो उत्तराखंड हासिल नहीं कर सकता। ऐसा कोई संकल्प नहीं है, जो इस देवभूमि में सिद्ध नहीं हो सकता। उत्तराखंड में अब होम-स्टे लगभग हर गांव में पहुंच चुके हैं। लोग बहुत सफलता से यहां होम-स्टे चला रहे हैं। उत्तराखंड होम-स्टे बनाने में, सुविधाओं के विस्तार में पूरे देश को दिशा दिखा सकता है। इस तरह के परिवर्तन उत्तराखंड को आत्मनिर्भर बनाएंगे।

हमने कहा कि जो भी योजनाएं लाएंगे सबके लिए लाएंगे, बिना भेदभाव के लाएंगे। हमने वोटबैंक की राजनीति को आधार नहीं बनाया बल्कि लोगों की सेवा को प्राथमिकता दी। हमारी अप्रोच रही कि देश को मजबूती देनी है। देश के सामान्य मानवी का स्वाभिमान, उसका गौरव सोची-समझी रणनीति के तहत कुचल दिया गया, उसे आश्रित बना दिया गया।लेकिन इस अप्रोच से अलग हमने अलग रास्ता चुना है। वो मार्ग कठिन है, लेकिन देशहित में है।

हमारा मार्ग है, सबका साथ-सबका विकास। कुछ राजनीतिक दलों द्वारा समाज में भेद करके सिर्फ एक तबके को, चाहे वो अपनी जाति का हो, किसी खास धर्म का हो या अपने छोटे से इलाके के दायरे का हो, इसी पर ध्यान देना यही प्रयास हुए हैं और उसमें ही उनको अपना वोट बैंक नजर आता है।

डबल इंजन की सरकार में उत्तराखंड के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर पर भी तेजी से काम चल रहा है। उत्तराखंड में तीन नए मेडिकल कॉलेज स्वीकृत किए गए हैं। ऋषिकेश एम्स तो सेवा दे ही रहा है, कुमाऊं में भी सेटेलाइट सेंटर सेवा देना शुरु कर देगा।

टीकाकरण के मामले में आज उत्तराखंड देश के अग्रणी राज्यों में है। इसके लिए मैं पुष्कर सिंह धामी जी, उनके साथियों और पूरी उत्तराखंड की सरकार को बधाई देता हूं।

पहले की सरकार ने उत्तराखंड में नेशनल हाईवे पर 7 साल में 600 करोड़ के आस पास खर्च किया। हमारी सरकार ने 7 साल में नेशनल हाईवे पर 12,000 करोड़ रुपये से अधिक खर्च कर चुकी है।

साल 2007 से 2014 के बीच जो केंद्र की सरकार थी, उसने सात साल में उत्तराखंड में केवल 288 किलोमीटर नेशनल हाईवे बनाए। जबकि हमारी सरकार ने अपने सात साल में उत्तराखंड में 2 हजार किलोमीटर से अधिक लंबाई के नेशनल हाईवे का निर्माण किया है।

हमारे पहाड़, हमारी संस्कृति, आस्था के गढ़ तो हैं ही, ये हमारे देश की सुरक्षा के भी किले हैं। पहाड़ों में रहने वालों का जीवन सुगम बनाना देश की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है।

आज भारत, आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर 100 लाख करोड़ रुपए से अधिक के निवेश के इरादे से आगे बढ़ रहा है।

आज भारत की नीति, गतिशक्ति की है, दोगुनी-तीन गुनी तेजी से काम करने की है।

साल तक देश में इंफ्रास्ट्रक्चर के नाम पर घोटाले हुए, घपले हुए।

इससे देश का जो नुकसान हुआ उसकी भरपाई के लिए हमने दोगुनी गति से मेहनत की और आज भी कर रहे हैं।

रैली को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि उत्तराखंड पूरी देश की आस्था ही नहीं, बल्कि कर्म और कठोरता की भी भूमि है। इसलिए इस क्षेत्र का विकास, इस क्षेत्र को भव्य स्वरूप देना, डबल इंजन की सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।

पीएम मोदी द्वारा की जाने वाली योजनाओं के शिलान्‍यास में सबसे अधिक महत्‍वपूर्ण दिल्ली-देहरादून इकोनॉमिक कारिडोर है। इसके बनने के बाद जिस दूरी को तय करने में अभी 6 घंटे लगते हैं उसको महज 2.5 घंटे में पूरा किया जा सकेगा। ये भविष्‍य में यहां के विकास के लिए क्रांतिकारी कदम साबित होगा। बता दें कि अगले वर्ष उत्‍तराखंड समेत पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनाव होने हैं। इसके लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपनी कमर पूरी तरह से कस ली है।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter