106 साल की कुंवर बाई की हालत नाजुक, इस वजह से PM मोदी ने छूए थे पैर

धमतरी. राष्ट्रीय स्वच्छता दूत कुंवर बाई की तबीयत बेहद नाजुक बनी हुई है। वह यहां जिला अस्पताल के पेइंग वार्ड में भर्ती है। प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह ने वीडियो कॉलिंग के जरिए स्वच्छता दूत कुंवर बाई का हाल जाना। हालांकि कुंवर बाई सीएम की बातों को सुन पाई, लेकिन जवाब नहीं दे पाई। सीएम ने कुंवर बाई की बेटी सुशीला यादव और नातिन चंद्रकला यादव से भी बात की और उनका हाल जाना।

सीएम ने जिला प्रशासन को निर्देश दिया कि उन्हें तत्काल राजधानी रायपुर के अस्पताल में शिफ्ट किया जाए ताकि उनका बेहतर इलाज किया जा सके। जिला प्रशासन ने सीएम के आदेश के बाद उन्हें शिफ्ट करने की तैयारी शुरू कर दी है। जल्द ही उन्हें रायपुर के अस्पताल में शिफ्ट कर दिया जाएगा।

एेसे सुर्खियों में आईं कुंवर बाई
106 साल की कुंवर बाई 2016 में उस वक्त सुर्खियों में आईं जब अपनी बकरियों को बेचकर शौचालय बनवाया था। इसके बाद उन्होंने अपने घर में बनाए गए शौचालयों को गांव के लोगों को दिखाया। साथ ही उन्हें इसके महत्व के बारे में भी बताया। कुंवर बाई के समझाने का ही नतीजा है कि अब गांव के घर-घर में शौचालय है।

कुंवर बाई के स्वच्छता के प्रति लगन और उत्साह से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी काफी प्रभावित हुए और उन्हें स्वच्छता दिवस के मौके पर दिल्ली में सम्मानित किया था। इसके बाद छत्तीसगढ़ दौरे पर आए पीएम मोदी ने श्याम प्रसाद मुखर्जी शहरी मिशन के एक समारोह में कुंवर बाई के पैर छूए और इसे अपना सौभाग्य बताया था।

प्रधानमंत्री ने कुंवर बाई की प्रशंसा करते हुए कहा था कि जो लोग अपने आपको नवजवान मानते हैं, वे तय करें कि उनकी सोच भी जवान है क्या, एक सौ चार वर्ष की मां कुंवर बाई न टीवी देखती हैं और न ही पढ़ी-लिखी हैं, लेकिन उन्हें पता चला कि देश के प्रधानमंत्री लोगों को घरों में शौचालय बनवाने के लिए कहते हैं।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani