विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में मचा घमासान, प्रदेश अध्यक्ष पर लगा गंभीर आरोप!

भोपाल। विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष बाला बच्चन ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव पर पार्टी में गुटबाजी फैलाने के आरोप लगाए हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बच्चन ने इसकी शिकायत पार्टी के प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया से की है। यह आरोप बुधवार को बड़वानी नगर पालिका के अध्यक्ष पद पर निर्वाचित हुए लक्ष्मण सिंह के शपथ समारोह के बाद लगे हैं। इसमें अरुण यादव के छोटे भाई विधायक सचिन यादव मुख्य अतिथि थे, लेकिन उसी जिले से विधायक बाला बच्चन को नहीं बुलाया गया। अपनी उपेक्षा से नाराज बाला बच्चन ने पत्रिका से कहा, अरुण यादव पार्टी में जानबूझ कर गुटबाजी फैला रहे हैं। अगर कांग्रेस के नेता इस तरह काम करेंगे तो फिर हमारा क्या होगा। उन्होंने कहा, मैं चौथी बार का विधायक हूं, पूर्व मंत्री हूं और पार्टी का राष्ट्रीय सचिव हूं, लेकिन यह सब उन्हें नहीं दिखता।

बाला बच्चन….
वे अपने छोटे भाई सचिन को मुख्य अतिथि बनाकर कार्यक्रम में भेज रहे हैं और कार्ड में मेरा नाम तक नहीं है। बच्चन ने कहा, यादव जानबूझ कर पार्टी के नेताओं के साथ ऐसा कृत्य करते हैं और बाद में झूठ बोलते हैं। यदि समारोह की सूचना मुझे दी जाती तो मैं जरूर उपस्थित होता। सचिन यादव ने मुझे बताया तो मैंने 17 फरवरी को कार्यक्रम रखने को कहा था, लेकिन बाद में सचिन ने बिना मुझे बताए 21 फरवरी को कार्यक्रम रख लिया। बच्चन ने आरोप लगाया कि अरुण के पिता सुभाष यादव जब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष थे, तब सारे कांग्रेस विधायक उनके खिलाफ थे।

मुझे नहीं पता क्या आरोप लगाए: अरुण
अरुण यादव ने कहा, मुझे नहीं पता कि बाला बच्चन ने क्या आरोप लगाए हैं। स्थानीय निकायों के शपथ में अतिथि तो विधायक और जिलाध्यक्ष तय करते हैं। वे लोग ही कुछ बता पाएंगे। मैं उपचुनाव में व्यस्त हूं।

कांग्रेसी हूं, कांग्रेस में ही रहूंगा : रामनिवास रावत

इधर, शिवपुरी में सीएम शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात के बाद उठे बवाल पर कांग्रेस विधायक रामनिवास रावत ने बुधवार को सफाई दी कि यह उनकी सौजन्य भेंट थी। हम टूरिस्ट विलेज में अलग-अलग ठहरे हुए थे। शिवराज, नरेंद्र सिंह तोमर और नरोत्तम मिश्रा जैसे ही होटल से निकले तो उनसे वहां मुलाकात हो गई। मैं कांग्रेसी हूं। यह भाजपाइयों का दुष्प्रचार है कि भाजपा में जा रहा हूं।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani