जर्मनी : निजी और सरकारी कर्मचारी हड़ताल पर, सैकड़ों फ्लाइट रद्द

बर्लिन। जर्मनी के फ्रैंकफर्ट सहित चार जर्मन हवाई अड्डे पर हजारों यात्री मंगलवार को उस समय फंस गए जब पूरे देश भर के निजी और सरकारी कर्मचारियों ने अपना वेतन बढ़ाने को लेकर बड़े पैमाने पर हड़ताल आयोजित किया। एयरलाइन लुफ्तांशा ने सोमवार को कहा कि मंगलवार के लिए फ्रैंकफर्ट हवाइ अड्डे से 1,600 नियोजित उड़ानों में 800 से ज्यादा को रद्द कर दिया गया है। इस हड़ताल से म्यूनिख एयरपोर्ट, फ्रैंकफर्ट एयरपोर्ट, कोलोंग और ब्रेमेन एयरपोर्ट भी इससे प्रभावित हुए। नर्सरी और कई अन्य संस्थान भी प्रभावित हुए हैं।

जर्मनी के सबसे बड़े लेबर यूनियन के प्रमुख फ्रैंक सिर्सके ने कहा, हम इस हड़ताल के साथ अपने कर्मचारियों को साफ संदेश देना चाहते हैं। साथ ही इस समस्या को सुलझाने के लिए हम सरकार के साथ तीसरे दौर की वार्ता की उम्मीद करते हैं। फ्रैंक ने कहा कि अगले सप्ताह तक मांगें पूरी ना हुई तो हड़ताल को आगे तक बढ़ा दिया जाएगा।

बताया जा रहा है कि वार्ता का तीसरा दौर 15 अप्रैल से शुरू हो जाएगा। लेबर यूनियन ने 2.3 पब्लिक सेक्टर के कर्मचारियों के लिए 6 फीसद की वेतन वृद्धि की मांग की थी। लेकिन, जर्मनी की सरकार और निगम ने इसे मानने से इनकार कर दिया और कहा कि इस तरह की मांगों से वे आउटसोर्स जॉब निर्धानित करने की तरफ सोचना शुरू कर देंगे।

मंगलवार को शुरु हुए इस देशव्यापी हड़ताल से यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था डगमगा रही है। रोजगार निर्माण, महंगाई, वेतन वृद्धि की मांग ये सभी उपभोक्ताओं का मोराल डाउन कर रहे हैं। आपको बता दें कि पड़ोसी देश फ्रांस में भी पिछले सप्ताह राष्ट्रपति इमैनुअल मैंक्रों के खिलाफ प्रदर्शन किया गया था।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani