व्लादिमीर पुतिन के दर्जनों कर्मचारी कोरोना संक्रमित, फिलहाल आइसोलेट रहेंगे रूसी राष्ट्रपति

मास्को। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का कहना है कि उनके दर्जनों कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं और आउटब्रेक के कारण फिलहाल वह अपना सेल्फ आइसोलेशन जारी रखेंगे। क्रेमलिन ने इस सप्ताह की शुरुआत में जानकारी दी थी कि रूसी राष्ट्रपति के नजदीक रहने वाले लोगों में कोरोना का मरीज मिलने के बाद वह सेल्फ आइसोलेट हो गए हैं। पुतिन को कोरोना की वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं। उन्होंने अप्रैल में स्पुतनिक वी का टीका लगवाया था।

पुतिन ने गुरुवार को कहा, ‘ मेरे आसपास कोरोना वायरस के मामले पाए गए हैं और एक या दो नहीं बल्कि दस से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। अब कुछ दिनों तक सेल्फ आइसोलेशन में रहना होगा।’ उन्होंने यह बात वीडियो लिंक से रूस के नेतृत्व वाले सामूहिक संधि सुरक्षा संगठन के एक शिखर सम्मेलन में कही।

क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा कि संक्रमित लोग मुख्य रूप से वे हैं जो राष्ट्रपति के काम, गतिविधियां और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने में हिस्सा लेते हैं। कोई भी गंभीर नहीं है। बता दें कि रूस पहला देश था जिसने कोरोना वायरस का टीका तैयार किया था, लेकिन देश के 30 प्रतिशत से भी कम लोगों का पूरी तरह से टीकाकरण हो सका है। नेशनल कोरोना वायरस टास्क फोर्स के देश में कोरोना के 72 लाख मामले सामने आ गए हैं और एक लाख 95 हजार 835 लोगों की मौत हो गई है।

पेसकोव ने गुरुवार को कहा कि राष्ट्रपति सेल्फ-आइसोलेशन में कम से कम एक सप्ताह तक रह सकते हैं। उन्हें क्रेमलिन में किसी के गंभीर रूप से बीमार होने की खबर नहीं है। उन्होंने कहा कि पुतिन को अभी यह तय करना है कि क्या वह अगले महीने के अंत में रोम में ग्रुप आफ 20 यानी प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के समूह के शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। क्रेमलिन ने पुतिन को कोरोना से बचाने के लिए कठोर नियम बनाए हैं।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter