विस्तारवादी नीति: नए साल पर चीन का दुनिया में अपना दायरा बढ़ाने का संकल्प

नए साल के लिए राष्ट्र का लक्ष्य साझा करते हुए पर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि दुनिया के सभी महत्वपूर्ण मसलों पर चीन की बीतें सुनी जाएगी। जिनपिंग ने देश के भविष्य का रोडपैप बताते हुए नए साल की पूर्व संध्या पर रविवार को कहा कि चीन मजबूती के साथ ओबीओआर यानि वन बेल्ट एंड वन रोड प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाएंगे।

पांच साल के अपने दूसरे कार्यकाल में पहली बार नए साल को संबोधित करते हुए चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि एक बड़े और जिम्मेदार देश के तौर पर चीन की भी राय काफी महत्वपूर्ण होनी चाहिए।

जिनपिंग ने यह भी कहा कि चीन जलवायु परिवर्तन के मुद्दों का हल करने के संकल्पों के प्रति कटिबद्ध है, वह बीआरआई को पूरी सक्रियता से आगे बढ़ाएगा और हमेशा विश्वशांति, वैश्विक विकास और अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था में अहम भूमिका निभाएगा।

शी ने कहा कि चीन के लोग अन्य देशों के लोगों के साथ मिलकर मानवता के लिए अधिक समृद्ध, शांतिपूर्ण भविष्य बनाने के लिए तैयार हैं। चीनी राष्ट्रपति ने घरेलू मोर्चे पर माना कि उनकी सरकार लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने में पिछड़ गई है। सरकारी संवाद समिति शिन्हुआ के अनुसार शी ने कहा कि तरक्की तो हुई लेकिन जनचिंता के मुद्दे बने हुए हैं।

यही नहीं चीन के राष्ट्रपति ने क्लाइमेट चेंज की समस्या पर भी प्रतिबद्धता के साथ काम करने पर सहमति जताई। चिनफिंग ने कहा कि चीन हमेशा दुनिया में शांति स्थापित करने, विकास और अंतरराष्ट्रीय सीमाओं की रक्षा में अपना योगदान देता रहेगा।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani