उपचुनाव में मिली हार पर बोले राजनाथ, कहा- बड़ी छलांग लगाने के लिए दो कदम पीछे जाना पड़ता है

भोपाल। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंदसौर आंदोलन को लेकर कांग्रेस पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि ये किसानों को नहीं कांग्रेस का आंदोलन है। उन्होंने कहा कि उन्हें चुनावी साल में ही कलावती और भट्टा परसौल जैसी बातों की याद आती है, फिर भूल जाते हैं। राजनाथ सिंह ने कहा कि शिवराज सिंह गरीबों और किसानों के प्रति संवेदनशील हैं।

गृहमंत्री सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने 60 साल देश पर राज किया, तो किसानों की हालत क्यों नहीं सुधरी। वहीं उन्होंने देश की कृषि विकास दर घटने और किसानों की आत्महत्याओं पर कहा कि 2003 तक देश की कृषि विकास दर 2.9 थी, लेकिन यूपीए के शासनकाल में लगातार घट गई। अब हमे अवसर मिला है, हम काम कर रहे हैं और 2022 में हमनें किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य लिया है। इसके साथ ही उन्होंने उपचुनाव में हार पर कहा कि लंबी छलांग लगाने के लिए एक दो कदम पीछे जाना होता है। आगे लंबी छलांग लगाएंगे।

किसानों का नहीं, कांग्रेस का है आंदोलन’
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि हमारे मुख्यमंत्री शिवराज सिहं चौहान ने कहा कि ये किसानों का आंदोलन नहीं, बल्कि ये कांग्रेस का आंदोलन है। क्यों मैं ये बात कर रहा हूं, जब भी चुनावी वर्ष आता है, तो कांग्रेस के अध्यक्ष किसी न किसी शिगूफे को छोड़ने की कोशिश करते हैं। याद दिलाना चाहते हूं, महाराष्ट्र की कलावती, संसद में खड़े होकर उन्होंने नाम लिया था। भूल गए उस कलावती को, क्या हुआ उस कलावती का। भट्टा परसौल यूपी के मामले को लेकर उन्होंने सारे देश में दौरा किया था। भूल गए भट्टा भरसौल के किसानों का दर्द।

किसानों की आय करेंगे दोगुना
अब मंदसौर के किसानों के सवाल को खड़ा करने की कोशिश कर रहे हैं। क्या इस सच्चाई को कोई नकार सकता है, कि मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह गरीबों और किसानों के प्रति कितने संवेदनशील है। 60 सालों तक हुकुमत की है, इन कांग्रेस के लोगों के लोगों ने, क्या कभी किसानों के प्रति गरीबों के प्रति ये संवेदनशीलता दिखाई है। 60 सालों तक इन्ही लोगों ने हुकुमत की है, क्यों नहीं किसानों के हालात में सुधार हुआ। आज हम ये काम कर रहे हैं, चार सालों के अंदर ही हम सारे के सारे परिवर्तन कर डालें, इसका हम कोई दावा नहीं करना चाहते, इसलिए लक्ष्य निर्धारित किया है, कि 2022 तक आते-आते हम किसानों की आय को दोगुना करेंगे।

हमारी सरकार ने प्रभावी काम किया’
राजनाथ सिंह ने कहा कि मुझे बतलाते हुए बहुत खुशी हो रही है कि साइबर क्राइम को रोकने की दृष्टि से हमारी सरकार ने प्रभावी काम किया है। मैं ये बताना चाहता हूं कि पहली बार गृह मंत्रालय ने एक अलग से डिवीजन बना दिया है, इसके लिए एक अधिकारी तय कर दिया है और स्टाफ रखा गया है। इस दौरान जब उनसे कृषि वृद्धि दर घटने और किसानों की आत्महत्या का सवाल किया गया तो उन्होंने कहा है कि पहले तो मैं आपको धन्यवाद देना चाहता हूं कि आपने याद किया कि मैं जब भारत का कृषि मंत्री था, तो उस समय भारत की कृषि वृद्धि 2.9 प्रतिशत थी और ठीक 2004 के बाद ये गिरना शुरू हुई। हालात हमारे किसानों के बद से बदतर होते चले गए।

सीएम ने ग्रोथ रेट को संभाले रखा’
उन्होंने कहा कि मप्र की शिवराज सिंह और छत्तीसगढ़ की रमन सरकार ने इस ग्रोथ रेट को संभाले रखा। जैसे शून्य प्रतिशत कर्ज, वोनस देकर और भावांतर योजनाओं के जरिए काम किया है। इसलिए मैं कह रहा हूं कि हमें समय मिला है, तो हमको अवसर तो मिलना चाहिए कि हम किसानों को लिए कुछ कर सकें, उनकी आमदनी को दोगुना कर सकें, इसी के लिए हम काम कर रहे हैं। उसी दृष्टि से हम लोग प्रयत्न कर रहे हैं। फसल की लागत कम हो, किसान के पास खेती के लिए पैसा न हो, तो कम से कम ब्याज दर पर हम कर्ज दे सकें। अपनी उपज बेचना चाहता है, तो मंडी में वो बेच सके, ये सब तो व्यवस्था हो ही रही है।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani