2 राज्याें की पुलिस ने नक्सलियों के लिए बनाई 3 घंटे तक रणनीति

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव जिले में 3 चरणों में होगा। नक्सल प्रभावित नगरी ब्लॉक में 3 फरवरी को चुनाव होना है। इस क्षेत्र में अति नक्सल प्रभावित 59 मतदान केंद्र है। सुरक्षा के मद्देनजर गुरूवार को धमतरी और अाेडिशा राज्य के पुलिस अफसरों के बीच करीब 3 घंटे बैठक हुई।

अफसरों ने नक्सलियों के खिलाफ सर्चिंग, एरिया डोमिनेशन की कार्रवाई के लिए कई रणनीति बनाई है। सीआरपीएफ के अलावा जिले में गठित स्पेशल नक्सल ऑपरेशन संयुक्त रूप से ज्वाइंट ऑपरेशन चलाएंगे। अाेडिशा सीमा को भी फोर्स ने सील कर दिया है। मेचका, बोरई, बिरनासिल्ली की सीआरपीएफ टीम एवं बहीगांव, नगरी, खल्लारी की सीएफ टीम की अलग-अलग टुकड़ी जंगल में घुसकर सर्चिंग अभियान शुरू कर दिया है।

एसपी ने दिए यह निर्देश: गुरुवार को सीआरपीएफ कैंप बिरनासिल्ली में पुलिस अफसरों की बैठक हुई। एसपी बीपी राजभानू ने अंतर्राज्यीय समन्वय बैठक ली। जिसमें छत्तीसगढ़ राज्य में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव वर्ष 2020 में जिला धमतरी के मतदान केंद्रों की सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में रणनीति बनी।

बैठक में ये सारे अफसर हुए शामिल:बैठक में 211वीं बटालियन सीआरपीएफ के कमांडेंट एएच अंसारी, हंसराज अपर कमांडेंट, राजेंद्र प्रसाद उप कमांडेंट, राजेश यादव असिस्टेंट कमांडेंट, इंस्पेक्टर एस सुब्बाराव, टीजे विजयन छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल, जिला नवरंगपुर उड़ीसा से हेमंता पाढ़ी एसडीओपी उमरकोट, तांकागिरी भोई आईआईसी कुंदई, गरियाबंद निरीक्षक संतोष भुआर्य थाना मैनपुर, एसआई ताराचंद रजक थाना शोभा, नक्सल सेल गरियाबंद कंपनी कमांडर एमएस रावत कैंप खल्लारी, सीसी एचपी नामदेव कैंप बहीगांव सीतानदी, एपीसी हरेंद्र सिंग रावत कैंप नगरी उपस्थित थे।

गांव की सरकार

धमतरी. सीआरपीएफ कैंप बिरनासिल्ली में पुलिस अफसरों की बैठक हुई।

3 चरणों में मतदान

जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 3 चरणों में होगा। 28 जनवरी को धमतरी, कुरूद, 31 जनवरी को मगरलोड और 3 फरवरी को नगरी ब्लॉक में चुनाव होगा। पुलिस विभाग के अनुसार जिले में कुल मतदान केंद्र 958 हैं। इसमें अति नक्सल संवेदनशील 59, नक्सल संवेदनशील 122, अति राजनीतिक संवेदनशील 94, राजनीतिक संवेदनशील 198 और सामान्य मतदान केंद्र 485 हैं।

इसलिए फोर्स ने ज्वांइट ऑपरेशन की बनाई रणनीति

पंचायत चुनाव का विरोध करने नक्सलियों का हलचल बढ़ गई है। खुफिया एजेंसी ने अलर्ट किया है कि जिले में नक्सली बड़ी वारदात के फिराक में है। सूत्रों के मुताबिक फोर्स की नजर नक्सली सत्यम गावड़े पर है और वे मैनपुर-नुआपाड़ा डिवीजन कमेटी का कमांडर है। सत्यक की हलचल एकावरी, घोड़ागांव, चंदनबाहरा, खल्लारी, तेंदूडोंगरी, मासूलबोईर क्षेत्र में है। करीब 12 से 15 नक्सली सक्रिय है। नगरी-सिहावा, गरियाबंद और ओडिशा बॉर्डर से जुड़ा है। तीनों जिले के बीच के बाॅर्डर को नक्सली सुरक्षित ठिकाना मानते हैं। इसलिए फोर्स ने ज्वाइंट अापरेशन के लिए रणनीति बनाई।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter