88 फीसद ग्रामीणों के पास है बैंक खाता, लेकिन 24 फीसद ही करते हैं ATM का इस्तेमाल

नई दिल्ली : अब देश के 88 फीसद से अधिक ग्रामीण परिवारों में बैंक खाते हैं, लेकिन उनमें से सिर्फ 24 फीसद ही तीन महीने में एक बार एटीएम सेवाओं का उपयोग करते हैं। यह जानकारी नाबार्ड के एक सर्वे के जरिए सामने आई है। दिलचस्प बात यह है कि सिर्फ 7.4 फीसद परिवार ही डेबिट और क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं जबकि सिर्फ 7.5 फीसद लोग ही भुगतान के लिए तीन महीने में एक बार चेक का इस्तेमाल करते हैं।

ऑल इंडिया फाइनेंशियल इन्क्लूशन सर्वे (एनएएफआईएस) के मुताबिक किसानों की सालाना आय में 37.4 फीसद का इजाफा हुआ है और यह इजाफा वित्त वर्ष 2012-13 और 2015-16 के बीच हुई है। वित्त वर्ष 2015-16 के दौरान सालाना इनकम 1,07,172 रुपये रही है जबकि एनएसएसओ ने पिछले सर्वे (वित्त वर्ष 2012-13) में इसे 77,977 पर रखा था।

भारत के ग्रामीण क्षेत्रों की औसत मासिक आय वित्त वर्ष 2015-16 में 8,059 रुपये रही है जबकि औसत खर्च 6,646 रुपये रहा है। ऐसे में उनके पास 1,413 रुपये की बचत हुई। किसान परिवार जो कि एक साल में 10,000 रुपये तक का निवेश किया करते थे उनमें से 60 फीसद हिस्सा या तो संस्थानों से या फिर अनौपचारिक स्रोतों से लिया हुआ होता था।

88 फीसद ग्रामीणों के पास है बैंक खाता, लेकिन 24 फीसद ही करते हैं ATM का इस्तेमाल
ऑल इंडिया फाइनेंशियल इन्क्लूशन सर्वे (एनएएफआईएस) के मुताबिक किसानों की सालाना आय में 37.4 फीसद का इजाफा हुआ है

नई दिल्ली : अब देश के 88 फीसद से अधिक ग्रामीण परिवारों में बैंक खाते हैं, लेकिन उनमें से सिर्फ 24 फीसद ही तीन महीने में एक बार एटीएम सेवाओं का उपयोग करते हैं। यह जानकारी नाबार्ड के एक सर्वे के जरिए सामने आई है। दिलचस्प बात यह है कि सिर्फ 7.4 फीसद परिवार ही डेबिट और क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं जबकि सिर्फ 7.5 फीसद लोग ही भुगतान के लिए तीन महीने में एक बार चेक का इस्तेमाल करते हैं।

ऑल इंडिया फाइनेंशियल इन्क्लूशन सर्वे (एनएएफआईएस) के मुताबिक किसानों की सालाना आय में 37.4 फीसद का इजाफा हुआ है और यह इजाफा वित्त वर्ष 2012-13 और 2015-16 के बीच हुई है। वित्त वर्ष 2015-16 के दौरान सालाना इनकम 1,07,172 रुपये रही है जबकि एनएसएसओ ने पिछले सर्वे (वित्त वर्ष 2012-13) में इसे 77,977 पर रखा था।

भारत के ग्रामीण क्षेत्रों की औसत मासिक आय वित्त वर्ष 2015-16 में 8,059 रुपये रही है जबकि औसत खर्च 6,646 रुपये रहा है। ऐसे में उनके पास 1,413 रुपये की बचत हुई। किसान परिवार जो कि एक साल में 10,000 रुपये तक का निवेश किया करते थे उनमें से 60 फीसद हिस्सा या तो संस्थानों से या फिर अनौपचारिक स्रोतों से लिया हुआ होता था।

राज्यों के बीच, ग्रामीण क्षेत्रों में पंजाब, हरियाणा और केरल के एवरेज मंथली इनकम के मामले में क्रमश: 23,133 रुपये, 18,496 रुपये और 16,927 रुपये के साथ टॉप पर हैं। इस मामले में उत्तर प्रदेश 6,668 रुपये प्रति माह के साथ सबसे निचले स्तर पर रहा है।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter