हवाई यात्रा की सुविधा दिलाने किया प्रदर्शन

बिलासपुर में हवाई यात्रा की सुविधा दिलाने की मांग को लेकर बीते तीन महीने से लोग धरना प्रदर्शन कर रहे है। जहां बिलासपुर के अलावा कवर्धा, मुंगेली सहित अन्य जिलों से बड़ी संख्या में लोग समर्थन देने पहुंच रहे है। मंगलवार को 92वें दिन पंडरिया के लोग प्रदर्शन में समर्थन देने शामिल हुए। पंडरिया से रेलवे संघर्ष समिति ने समर्थन दिया।

वक्ताओं ने कहा कि हम पूर्व में भी बिलासपुर जिले का हिस्सा थे और वर्तमान में भी चकरभाठा एयरपोर्ट हमें रायपुर माना एयरपोर्ट के मुकाबले करीब 70 किमी कम दूरी पर उपलब्ध होगा। सभा को संबोधित करते हुए रेलवे संघर्ष समिति पंडरिया के अध्यक्ष आशीष जैन ने कहा कि जब छत्तीसगढ़ राज्य बना था तब बिलासपुर में राजधानी बनाने की मांग की थी। उस वक्त हाईकोर्ट देकर कहा गया था कि बिलासपुर के विकास में रायपुर की तुलना में कोई भी कमी नहीं होने दी जाएगी। लेकिन 19 साल बाद यह झूठा साबित हुआ। छत्तीसगढ़ में विकास केवल रायपुर शहर में केन्द्रित हो गया है। देवेन्द्र सिंह बाटू ने कह कि एसईसीएल अकेले ही 1 हजार करोड़ रुपए से अधिक की राॅयल्टी बिलासपुर संभाग से राज्य सरकार को दे रही है।

इसी तरह केन्द्र सरकार को भी राजस्व मिल रहा है। बिलासपुर एयरपोर्ट का 4 सी केटेगरी में विकास के लिए कोई भी कमी नहीं होनी चाहिए। अभिषेक चौबे, रामकुमार जायसवाल, पालन सिंह, नरेन्द्र सोनी, अनुराम सिंह, योगेन्द्र शर्मा, संजय शर्मा, हेमंत सिंह, विकास नायक, केशव गोरख, बद्री यादव, गोपाल दुबे, अशोक भंडारी, राकेश तिवारी, समीर अहमद, शेख अल्फाज, मनोज श्रीवास, ऋषि केशरी, अमित नागदेव, भुवनेश्वर शर्मा, फैजान खान, पप्पू तिवारी, संजय तिवारी, नरेश यादव, वीरेंद्र सारथी, पवन पांडे, संतोष, सतीश गोयल, संजय पिल्ले, मौजूद थे। रेलवे संघर्ष समिति पंडरिया अध्यक्ष आशीष जैन ने बताया कि बिलासपुर में हवाई सुविधा दिलाने के लिए बीते तीन महीने से लोग धरना प्रदर्शन में शामिल होकर समर्थन दे रहे हैं। बिलासपुर में हवाई सुविधा शुरू होने से दूरी कम होगी।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter