कार्यसमिति में गूंजा टूल किट मामला, साय बोले-असहमति को कुचलने की साजिश

रायपुर : भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में टूल किट मामला उठाया गया। प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि कांग्रेस सरकार के ढाई वर्ष पूरे होने पर प्रदेश भाजपा ने यही तय किया था कि वह जनता के बीच पहुंचे और लगातार पांच दिनों तक उन्हें भूपेश सरकार की विफलता भी बताएं। इस अभियान में पार्टी अपने सभी मोर्चा-प्रकोष्ठ-विभागों-प्रकल्पों के साथ सीधे जनता तक पहुंची।

प्रदेश के गांव-गांव तक प्रश्नावली के माध्यम से उनसे सवाल पूछे। उनके जवाबों को लिखित रूप में और वीडियो बनाकर दर्ज किया। इस अभियान ने साबित किया कि प्रदेशभर की आशाओं का केंद्र एकमात्र भाजपा है। कांग्रेस सरकार के ढाई वर्ष के कार्यकाल में ही बुरी तरह निराश और हताश जनता यहां भी भाजपा में अपना भविष्य देख रही है।

साय ने आरोप लगाया कि छत्तीसगढ़ में भूपेश सरकार संविधान की सबसे बड़ी गारंटी अभिव्यक्ति की आजादी को कुचलने के लिए किसी भी हद तक जा रही है। असहमति को कुचलने की लगातार कोशिश जारी है। बात चाहे टूलकिट का षड्यंत्र पर्दाफाश होने पर बौखलाहट में भाजपा नेताओं पर मुकदमा करने की हो, पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह को कांग्रेस द्वारा पुलिस घर भेजकर अपमानित करने की हो या कांग्रेस समर्थित माफियाओं द्वारा भाजपा प्रतिनिधियों और पत्रकारों से हिंसा की।

भ्रष्टाचार का विरोध कर रहे अपराधी की प्रताड़ना की हो या महज फेसबुक पर लिखने के कारण राजद्रोह तक का मुकदमा कायम कर देने की। हर मामले ने यह साबित किया कि कांग्रेस जब भी जहां भी सत्ता में रहेगी, वहां लोकतंत्र खतरे में रहेगा। संविधान से मिली आजादी संकट में होगी।

राजनीतिक प्रस्ताव में सरकार को विफलता पर घेरा

पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने राजनीतिक प्रस्ताव रखा और प्रदेश सरकार पर उसकी कुनीतियों और बदनीयती पर जमकर हमला बोला। प्रस्ताव का समर्थन सांसद संतोष पांडेय ने किया। धान बोनस, धान खरीदी, धान उठाव, कानून-व्यवस्था जैसे अनेक मुद्दों पर प्रदेश सरकार की तीखी आलोचना की गई। चंद्राकर ने केंद्र सरकार की योजनाओं के लाभ से जरूरतमंदों को वंचित रखने और गरीबों के राशन में घोटाले का आरोप लगाया।

आपातकाल की बरसी पर आक्रामक होगी भाजपा

संगठन महामंत्री पवन साय ने बताया कि सोमवार को पार्टी के तत्वावधान में योग दिवस का कार्यक्रम होगा। 23 जून को भारतीय जनसंघ के संस्थापक डा. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर पौधारोपण और संगोष्ठी होगी। 25 जून को पार्टी आपातकाल की बरसी पर लोकतंत्र और मौलिक स्वतंत्रता की रक्षा में पार्टी के योगदान पर केंद्रित कार्यक्रम रखा जाएगा।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter