पासपोर्ट रिन्यू न होने को लेकर महाराष्ट्र सरकार पर फूटा कंगना रनोट का गुस्सा

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनोट इन दिनों अपने पासपोर्ट रिन्यूअल को लेकर मुश्किलों का सामना कर रही हैं। इसको लेकर सोमवार को उन्होंने बॉम्बे हाईकोर्ट में अपील की, जिसके बाद कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए 25 तारीख दे दी है। वहीं पासपोर्ट रिन्यू न होने को लेकर अब कंगना रनोट ने महाराष्ट्र सरकार पर अपना गुस्सा निकाला है। दरअसल बीते कुछ दिनों में कंगना रनोट कई विवादों में आई हैं, जिसके चलते उनके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। अभिनेत्री के खिलाफ बांद्रा पुलिस ने राजद्रोह और जानबूझकर नफरत फैलाने का भी मामला दर्ज किया हुआ है। ऐसे में रीजनल पासपोर्ट ऑफिस ने कंगना रनोट का पासपोर्ट रिन्यू करने से मना कर दिया है।

इसको लेकर अब कंगना रनोट ने अपने कू एप के जरिए अपना गुस्सा निकाला है। उन्होंने कू एप पर लिखा, ‘महाविनाशकारी सरकार (महाराष्ट्र सरकार) ने मेरा अप्रत्यक्ष उत्पीड़न फिर से शुरू कर दिया है, पासपोर्ट रिन्यूअल के लिए मेरा अनुरोध खारिज कर दिया गया है क्योंकि मुनव्वर अली सैयद नाम के एक सड़क किनारे के रोमियो ने मुझ पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया था। इस एफआईआर की वजह से अदालत ने पासपोर्ट के लिए मेरे अनुरोध को खारिज कर दिया।’

कंगना रनोट यहीं नहीं रुकीं उन्होंने अपनी बात को पूरा करने के लिए आमिर खान के एक बयान का सहारा लिया। अभिनेत्री ने इंस्टाग्राम की स्टोरी में लिखा, ‘जब आमिर खान ने भारत को असहिष्णु कहकर बीजेपी सरकार को नाराज किया, तो किसी ने भी उनका पासपोर्ट वापस नहीं लिया। उनकी फिल्मों या शूटिंग को किसी भी तरह से रोका या परेशान नहीं किया गया।’ सोशल मीडिया पर कंगना रनोट के यह दोनों पोस्ट वायरल हो रहे हैं।

आपको बता दें कि कंगना रनोट और उनकी रंगोली चंदेल के खिलाफ सोशल मीडिया के जरिए सांप्रदायिक तनाव फैलाने, अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करने, बॉलीवुड और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ ट्वीट्स और इंटरव्यूज में अपमानजनक भाषा का प्रयोग करने के आरोपों को लेकर बांद्रा पुलिस एफआईआर दर्ज की है। वहीं इस मामले की सुनवाई जस्टिस एसएस शिंदे और मनीष पिटाले की डिवीजन बेंच कर रही है।

पिछले साल अक्टूबर में कंगना रनोट और उनकी बहन रंगोली के खिलाफ बांद्रा पुलिस ने कास्टिंग डायरेक्टर और फिटनेस ट्रेनर मुनव्वर अली सैय्यद की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की थी। बांद्रा पुलिस ने कंगना और उनकी बहन पर आईपीसी की धारा 153 A (धर्म और नस्ल के आधार पर दुश्मनी को बढ़ावा देना), 295 A (जानबूझकर धार्मिक भावनाएं आहत करना) और 124 A (राजद्रोह) के तहत एफआईआर दर्ज की है।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter