अप्रैल में भारत की सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में दिखा सुधार, रोजगार के मोर्चे पर भी आई तेजी

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अप्रैल महीने के दौरान देश के सर्विस सेक्टर में सुधार देखने को मिला है। इस सुधार की प्रमुख वजह व्यापार गतिविधियों में आई तेजी रही और रोजगार सृजन की रफ्तार भी बीते वर्षों के मुकाबले सबसे तेज देखी गई है। यह जानकारी एक मासिक सर्वे में सामने आई है।

नए ऑर्डर्स में हुए इजाफे और मुद्रास्फीति दबाव को कम करने ने भी मांग स्थितियों में सुधार करने में मदद की है। निक्केई इंडिया का सर्विस बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स अप्रैल महीने में बढ़कर 51.4 पर पहुंच गया जो कि बीते महीने यानी मार्च में 50.3 पर रहा था। सर्वे रिपोर्ट में कहा गया, “इससे संकेत मिलता है कि पिछले महीने की तुलना में भारतीय सेवा क्षेत्रों के आउटपुट में तेजी से विस्तार हुआ है।” आपको बता दें कि पीएमआई में 50 से ऊपर का स्तर विस्तार और इससे नीचे का स्तर संकुचन को दर्शाता है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक देश का सर्विस सेक्टर इस तिमाही की शुरुआत से ही सुधर रहा है, व्यापार गतिविधियां अपनी उच्चतम रफ्तार पर हैं जिन्हें नए ऑडर्स में आए इजाफे से समर्थन मिल रहा है। इस रिपोर्ट में कहा गया, “मांग की स्थितियों में सुधारों को प्रतिबिंबित करते हुए, मार्च 2011 से रोजगार सृजन में तेजी देखने को मिली है।”

आईएचएस मार्किट और इस लेख की लेखिका आशना डोढिया ने बताया, “यह भारतीय सेवा अर्थव्यवस्था रिपोर्ट को देखने के लिए प्रोत्साहित कर रहा था कि अप्रैल तिमाही में सकारात्मक शुरुआत मिली है, जिसमें आउटपुट ग्रोथ को रफ्तार हासिल हुई है क्योंकि मांग की स्थिति सुधरी है।”

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani