पश्चिम बंगाल पालिका चुनाव: कांग्रेस-लेफ्ट साफ, TMC की जीत, बीजेपी दूसरे नंबर पर

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में 2018 के महत्वपूर्ण पंचायत चुनावों से पहले नगर निकाय चुनावों में तृणमूल कांग्रेस की एकतरफा जीत ने ममता को और ताकतवर बना दिया है। इस जीत के बीच बीजेपी के उभार और कांग्रेस-लेफ्ट के साफ होने को बंगाल की बदलती राजनीतिक तस्वीर के रूप में देखा जा रहा है। तृणमूल कांग्रेस ने सभी सात निकायों पर कब्जा जमाते हुए 148 वॉर्ड में से 140 पर जीत दर्ज की है। वहीं, वाम दलों को तीसरे स्थान पर छोड़ते हुए बीजेपी अधिकतर स्थानों पर दूसरे पायदान पर रही। कांग्रेस को एक भी वॉर्ड पर जीत नसीब नहीं हुई है।

नतीजों से ऐसा लग रहा है कि लेफ़्ट और कांग्रेस के वोट तृणमूल और BJP में बंट रहे हैं। बीजेपी मुख्य विपक्षी दल के रूप में उभर रही है। हालांकि अभी उसे बड़ा फासला तय करना है, क्योंकि तृणमूल और उसके मतों में बहुत बड़ा अंतर है। बताया जा रहा है कि सत्ता में रहने के बावजूद पिछले चुनावों के मुकाबले टीएमसी के वोट शेयर बढ़े हैं।

गुरुवार को पश्चिम बंगाल नगर निकाय चुनावों के नतीजों ने तृणमूल के साथ-साथ बीजेपी को भी खुश कर दिया। तृणमूल जबर्दस्त जीत के साथ सातों निकायों पांशकुड़ा, नलहाटी, कूपर्स कैंप, हल्दिया, दुर्गापुर (साउथ बंगाल), धूपगुड़ी, बुनियादपुर (नॉर्थ बंगाल) पर काबिज हो गई। टीएमसी ने इसके अलावा हुगली के चंपदानी और पश्चिमी मिदनापुर के झारग्राम वॉर्ड में हुए उपचुनाव में भी जीत हासिल की।

बीजेपी के लिए भी यह नगर निकाय चुनाव बड़ी सफलता लेकर आया। बीजेपी अधिकतर जगहों पर दूसरे स्थान पर तो आई ही है, पार्टी ने 6 वॉर्डों में जीत भी दर्ज की है। इनमें से 5 वॉर्ड नॉर्थ बंगाल की दो नगरपालिकाओं, जलपाईगुड़ी के धूपगुड़ी (4) और बुनियादपुर (1), में हैं। साउथ बंगाल में बीजेपी को केवल पांशकुड़ा नगरपालिका के एक वॉर्ड में जीत मिली है।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani