MP की हीरा खदान में रियो के बाद वेदांता व अडानी की रुचि

दुनिया की सबसे बड़ी माइनिंग कंपनी रियो टिंटो ने हाल में मध्य प्रदेश की जिस बुंदर हीरा खदान से हाथ खींचे हैं, उसे हासिल करने के लिए वेदांता और अडानी समूह आगे आ सकते हैं। ये दोनों माइनिंग कंपनियां इस खदान के लिए बोली लगा सकती हैं।

नाम न बताने की शर्त पर इस मामले से जुड़े व्यक्ति ने बताया कि बुंदर परियोजना के लिए वेदांता बोली लगा सकती है। अडानी समूह भी इस हीरा परियोजना के लिए बोली लगाने पर विचार कर रहा है। कंपनी के कुछ अधिकारी प्रोजेक्ट साइट पर जाकर मुआयना भी कर चुके हैं।

मध्य प्रदेश के खनन सचिव मनोहर लाल दुबे ने बताया कि इस परियोजना के लिए निविदा आमंत्रित करने का नोटिस नवंबर में जारी किया जाएगा। यह एक ऑनलाइन निविदा प्रक्रिया होगी। प्रोजेक्ट की संभावित लागत के बारे में पूछे जाने पर दुबे ने कहा कि इस पर कुछ कहना मुश्किल है क्योंकि इसमें कई पहलू शामिल हैं। उन्होंने बताया कि भारतीय खनन ब्यूरो के अनुसार इस परियोजना से निकाले जाने वाले हीरों का अनुमानित मूल्य 60,000 करोड़ रुपये होगा।

हालांकि, परियोजना में रुचि दिखाने वाली कंपनियों का नाम नहीं बताया। उन्होंने कहा कि कई कंपनियों ने इसमें रुचि दिखाई है। मध्य प्रदेश सरकार की इस महीने मुंबई में कंपनियों के साथ बैठक हुई। इस बैठक में 10 परियोजनाओं पर विचार हुआ। इसमें बुंदर हीरा परियोजना भी शामिल है।

बोली लगाने के सवाल पर वेदांता या अडानी की ओर से कोई पुष्टि नहीं हुई है। कुछ महीने पहले रियो टिंटो ने इस परियोजना से यह कहते हुए हाथ खींच लिया था कि वह अपनी कारोबारी रणनीति के तहत बुंदर हीरा परियोजना को आगे नहीं बढ़ाना चाहती है। रियो के पीछे हटने के बाद राज्य सरकार इस परियोजना पर नये सिरे से विचार करने को मजबूर हुई

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani