होम लोन के लिए पीएफ से निकाल सकते हैं रुपए, लेकिन पर्सनल लोन के लिए नहीं

किरायेदारी से ऊब चुके अजय मकान खरीदना चाहते हैं। इसके डाउनपेमेंट के लिए उन्हें कुछ रुपयों की जरूरत है। इसके साथ ही उनका एक पर्सनल लोन भी चल रहा है और उसे भी वह खत्म करना चाहते हैं। अजय को एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हुए पांच साल से ज्यादा का समय हो चुका है, वह चाहते हैं कि क्या कर्मचारी भविष्य निधि संगठन में किए गए अंशदान से वह जरूरत भर की राशि निकाल लें।

इस बारे में जब उन्होंने अपनी कंपनी में बात की, तो उन्हें बताया गया कि कुछ चुनिंदा कारणों से वह पीएफ में जमा की गई राशि को निकाल सकते हैं। मगर, पर्सनल लोन को चुकाने के लिए उन्हें रकम नहीं निकालने को मिलेगी। इसे उन्हें अपनी बचत से ही चुकाना होगा। यदि वह पर्सनल लोन को जल्दी खत्म करना चाहते हैं, तो उन्हें और ज्यादा बचत करने की जरूरत होगी।

अजय को यह सलाह भी दी गई कि जहां तक हो सके, पर्सनल लोन लेने से बचना चाहिए क्योंकि इस पर ब्याज अधिक देना होता है, जिससे आपकी बचत पर नकारात्मक असर पड़ता है। वह शादी, इलाज, घर खरीदने या उसके निर्माण के लिए, होम लोन के री-पेमेंट के लिए, घर के रेनोवेशन या किसी दूसरे देश में शिफ्ट होने की स्थिति में पीएफ की रकम को निकाल सकते हैं।

अजय के मामले में एक अच्छी बात यह है कि उन्होंने पांच साल की नौकरी कर ली है। इससे जब वह पीएफ की राशि निकालेंगे, तो उन्हें टीडीएस नहीं देना होगा, जो कि पांच साल से कम समय तक नौकरी करने पर देना होता है। हालांकि, पांच साल की नौकरी पूरी हो जाने के बावजूद पीएफ से मिलने वाली रकम कुछ प्रतिबंधों के अधीन होगी।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani