हिंदुस्तान यूनिलीवर के लाभ में छह फीसद का इजाफा

नई दिल्ली। देश की एफएमसीजी दिग्गज हिंदुस्तान यूनिलीवर (एचयूएल) ने बुधवार को बीते वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही के वित्तीय नतीजों का ऐलान कर दिया। 31 मार्च को समाप्त इस तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 6.19 फीसद बढ़कर 1,183 करोड़ रुपए हो गया।

इससे पिछले वित्त वर्ष 2015-16 की समान तिमाही में एचयूएल ने 1,114 करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया था। वित्त वर्ष 2016-17 की चौथी तिमाही के दौरान हिंदुस्तान यूनिलीवर की कुल आमदनी भी 6.39 फीसद बढ़कर 8,969 करोड़ रुपए हो गई।

इससे पिछले वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 8,430 करोड़ रुपए की आय अर्जित की थी। एचयूएल के चेयरमैन हरीश मानवानी ने इसे कंपनी के लिए कमाई के लिहाज से बेहतर तिमाही बताया है।

कंपनी के निदेशक बोर्ड ने प्रति शेयर 10 रुपए के अंतिम लाभांश का ऐलान किया है। जहां तक पूरे वित्त वर्ष का सवाल है तो 2016-17 के दौरान कंपनी का शुद्ध मुनाफा 4,490 करोड़ और कुल आय 36,128 करोड़ रुपए रहा।

तीन गुना हुआ जेएसडब्ल्यू का मुनाफा

उद्योगपति सज्जन जिंदल की अगुआई वाली जेएसडब्ल्यू स्टील को बीते वित्त वर्ष की समीक्षाधीन तिमाही के दौरान 1,008.5 करोड़ का कंसॉलिडेटेड प्रॉफिट हुआ है। पिछले वर्ष की समान तिमाही में यह आंकड़ा 300.6 करोड़ रुपए था। इस लिहाज से कंपनी का मुनाफा बढ़कर तीन गुना से ज्यादा हो गया।

इसी तरह कंपनी की कंसॉलिडेटेड कुल आय भी 17,973.06 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। कंपनी की 2015-16 की समान तिमाही में कुल आमदनी 11,815.21 करोड़ रुपए थी। समीक्षाधीन तिमाही के दौरान कंपनी ने 41 लाख टन क्रूड स्टील का उत्पादन किया। यह कंपनी द्वारा अब तक का सर्वाधिक उत्पादन है।

इलाहाबाद बैंक को 111 करोड़ का लाभ

सरकारी क्षेत्र के इलाहाबाद बैंक ने समीक्षाधीन तिमाही के दौरान 111 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया है। वर्ष 2015-16 की जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक को 581 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा लगा था।

बैंक की एमडी एवं सीईओ उषा अनंतसुब्रमण्यम ने कहा कि इस मुनाफे में ट्रेजरी ऑपरेशन से हुई आय का सबसे ज्यादा योगदान रहा। बैंक की ओर से फंसे कर्जों (एनपीए) की वसूली पर जोर दिया जा रहा है।

बैंक एनपीए के मामले में स्टील, टेक्सटाइल, केमिकल, पावर और इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्रों में ज्यादा दबाव महसूस कर रहा है

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani