इस तरह टीम इंडिया का कोच बनते-बनते रह गए वीरेंदर सहवाग

टीम इंडिया के नए कोच की रेस में पूर्व बल्लेबाज और आईपीएल में किंग्स XI पंजाब के मेंटर बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग भी फेवरिट माने जा रहे थे। खबरों की मानें तो वीरू को भी कोहली का पूरा समर्थन था, लेकिन अंत में बाजी पूर्व कप्तान रवि शास्त्री ने मार ली। चैंपियंस ट्रोफी के दौरान कैप्टन विराट कोहली और टीम इंडिया के खिलाड़ी अचानक पूर्व कोच अनिल कुंबले के खिलाफ हो गए। हालांकि, कैप्टन और टीम इंडिया के बाकी किसी भी सदस्य को नए कोच के लिए आवेदन करने वाले किसी भी कैंडिडेट से कोई परेशानी नहीं थी। टीम इंडिया ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि वह क्रिकेट अडवाइजरी कमिटी (CAC) के निर्णय में किसी प्रकार का दखल नहीं देगी।

सीएसी द्वारा टीम इंडिया के कोच पद के लिए हाल ही में लिए गए इंटरव्यू के बाद यह बात सामने आई है कि वीरेंदर सहवाग को भी कोहली का पूरा समर्थन था। वीरू उन 5 कैंडिडेट्स में शुमार थे, जिन्होंने टीम इंडिया के कोच पद के लिए इंटरव्यू दिया था। वीरू का प्रेजेंटेशन रवि शास्त्री और पूर्व ऑस्ट्रेलियन ऑलराउंडर टॉम मूडी के बाद सबसे शानदार था। सहवाग ने इंटरव्यू से पहले कोच की भूमिका के लिए जमकर मेहनत की थी। सहवाग ने टीम इंडिया के साथ काफी ग्राउंडवर्क भी किया था।

किंग्स XI पंजाब के मेंटर बनने के बाद वीरू में भरपूर कॉन्फिडेंस था कि इस शीर्ष स्थान पर टीम इंडिया के लिए बेहतर रिजल्ट लाने में सकारात्मक भूमिका निभाएंगे। हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया को पता चला है कि वीरू में यह कॉन्फिडेंस बीसीसीआई के एक अधिकारी द्वारा उन्हें कोच पद के लिए अप्लाई करने की सलाह देने के बाद आया। अधिकारी ने सहवाग को कहा था कि यदि वह खुद को कोच पद के लिए उपयुक्त मानते हैं, तो वह खुद को तैयार करें और इस पद के लिए अप्लाई करें।

अधिकारी की मंजूरी मिलने के बाद अप्लाई करने से पहले वीरू ने कैप्टन कोहली से मिलना बेहतर समझा। कोहली ने सहवाग को कहा, ‘बिल्कुल वीरू पा। हम सभी जानते हैं कि भारतीय क्रिकेट में आपका योगदान शीर्ष स्तर का रहा है। मुझे इस बात से कोई दिक्कत नहीं है अगर आप कोच बनने के लिए अप्लाई कर रहे हैं। हर वो व्यक्ति जो यह मानता है कि वह भारतीय क्रिकेट में बेहतर योगदान दे सकता है वह इस पद के लिए अप्लाई कर सकता है और उसे करना चाहिए।’

हालांकि कोहली ने सहवाग को यह भी बताया था, ‘पाजी, आपके लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है और मुझे मालूम है कि आप बतौर कोच शानदार काम करेंगे, लेकिन आपको यह समझना होगा कि इस पद के लिए एक खास तरह का प्रफेशनल सेटअप है। इसलिए यह थोड़ा मुश्किल भी है और बाकी सब तो सीएसी के हाथ में है।’ कोहली ने कहा, ‘टीम के साथ मौजूद सपोर्ट स्टाफ को अब काम करते कुछ वक्त हो गया है। असल बात तो यह है कि इनमें से कई ऐसे हैं, जो हर टीम मेंबर की अलग-अलग जरूरतों को समझते हैं।’ इसी बिंदु पर शास्त्री कोच की होड़ में आगे निकलने में कामयाब रहे। वह कप्तान और टीम की जरूरतों को लेकर और विस्तृत अप्रोच अपनाने को तैयार थे। सूत्रों के मुताबिक, शास्त्री के फेवर में यह बात भी गई कि वह टीम के साथ बीते 3 साल से काम कर रहे वर्तमान स्टाफ मेंबर के कामकाज के तौर-तरीकों की अहमियत को समझते हैं।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani