एयरसेल-मैक्सिस मामले में स्वामी ने सुप्रीम कोर्ट से की शीघ्र सुनवाई की मांग

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने सुप्रीम कोर्ट से अपनी याचिका पर शीघ्र सुनवाई करने की मांग की है। उन्होंने यह याचिका 2006 में एयरसेल-मैक्सिस को दिए गए एफआइपीबी क्लीयरेंस को लेकर दायर की है। अपनी याचिका में भाजपा नेता ने आरोप लगाया है कि तत्कालीन वित्त मंत्री पी. चिदंबरम क्लीयरेंस देने में कानूनी प्रक्रिया की अवहेलना की थी।

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानवीलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने कहा कि याचिका पर शीघ्र सुनवाई करने के संबंध में विचार किया जाएगा। शीर्ष अदालत ने इससे पहले स्वामी से अपने आरोपों के समर्थन में ठोस सामग्री लाने के लिए कहा था। स्वामी ने पूर्व में दी गई दलील में कहा था कि चिदंबरम ने सौदे को विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड (एफआइपीबी) क्लीयरेंस दी थी। जबकि इसे प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली आर्थिक मामलों पर मंत्रिमंडल की समिति के पास भेजा जाना चाहिए था।

जेट एतिहाद सौदे पर आठ सप्ताह बाद होगी सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका पर वह आठ सप्ताह बाद सुनवाई करेगा। भाजपा नेता ने अपनी याचिका में जेट एयरवेज और अबू धाबी के एतिहाद एयरवेज के बीच हुए करार को निरस्त करने की मांग की है। उन्होंने हाल ही में भारत और यूएई के बीच हुए द्विपक्षीय समझौते को चुनौती देने वाली अपनी याचिका में संशोधन किया है।

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानवीलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने स्वामी की दलील पर ध्यान दिया। भाजपा नेता ने कहा कि संसदीय समिति भी उनके विचार से सहमत हुआ है कि इस द्विपक्षीय समझौते से उड़ानों की संख्या में वृद्धि हुई है। पीठ ने कहा कि आठ सप्ताह बाद इस याचिका पर सुनवाई की जाएगी।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani