फ्लिपकार्ट-स्नैप ‘डील’ फेल, विलय के लिए हो रही बातचीत खत्म

ई-वाणिज्य क्षेत्र की कंपनी स्नैपडील ने प्रतिद्वंद्वी फ्लिपकार्ट के साथ अधिग्रहण को लेकर पिछले 5 महीने से चल रही बातचीत समाप्त कर दी है। दोनों कंपनियों के बोर्ड के बीच कई दौर की बैठकें हुई लेकिन यह करार अंजाम तक नहीं पहुंच पाया। स्नैपडील के प्रवक्ता ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि कंपनी पिछले कई महीनों से रणनीतिक विकल्प तलाश रही थी। कंपनी ने अब स्वतंत्र रास्ता अपनाने का निर्णय किया है और सारी रणनीतिक वार्ताएं समाप्त कर दी है। सूत्रों के मुताबिक इस बात की पूरी संभावना है कि सॉफ्टबैंक अब खुद ही फ्लिपकार्ट में निवेश करेगी और स्नैपडील से किनारा कर लेगी। स्नैपडील के संस्थापकों कुणाल बहल और रोहित बंसल के साथ-साथ कंपनी के शुरुआती निवेशक नेक्सस वेंचर पार्टनर, छोटे शेयरधारकों और प्रेमजी इन्वेस्ट ने फ्लिपकार्ट के साथ करार पर आपत्ति जताई थी।

स्नैपडील का अब वैकल्पिक योजना के साथ आगे बढऩे का इरादा है और वह ताओबाओ की तर्ज पर खुले बाजार का तानाबाना अपनाएगी। कंपनी ने अपने ऑनलाइन वॉलेट फ्रीचार्ज को 6 करोड़ डॉलर में बेचने के लिए ऐक्सिस बैंक के करार किया है। कंपनी को उम्मीद है कि इससे मिली राशि और बैंक में जमा नकदी के दम पर कम से कम 4 साल तक उसका काम चल जाएगा।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani