पति के सामने अस्पताल में भिड़ गई पत्नी और प्रेमिका

शिवपुरी। पत्नी और प्रेमिका के बीच बार-बार होने वाले विवाद में 108 एंबुलेंस के ड्राइवर ने जहर खाकर जान देने की कोशिश की। इस दौरान उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया। तो यहां भी पत्नी और प्रेमिका दोनों पहुंची गई, इसके बाद उन दोनों में फिर विवाद के बाद हाथापाई शुरू हो गई। उन्हें झगड़ता देख ड्राइवर खुद उठकर उन्हें अलग करने लगा।

जिले के सुभाषपुरा थाने पर तैनात 108 के पायलट ने शुक्रवार की सुबह जहर गटककर जान देने की कोशिश की। जहर खाकर दुनिया छोड़ने की इच्छा के पीछे पायलट के शादीशुदा होते हुए भी प्रेमिका को जीवन में स्थान देना रहा, जिसके कारण उसके घर में आए दिन कलह होती है।

जिला अस्पताल में उसका इलाज किया जा रहा है, जहां हालत ठीक है, लेकिन इस मामले में तूफान यहीं नहीं थमा, बल्कि अस्पताल में इलाज के दौरान उसे देखने पहुंची पत्नी और प्रेमिका दोनों आमने-सामने आ गईं तो दोनों के बीच बातचीत के दौरान चोटी पकड़कर जमकर लड़ाई छिड़ गई, जिसे पायलट को पलंग छोड़कर लोगों के साथ शांत कराना पड़ी।

प्रेमलता ने आसमां को एक जोरदार चांटा भी मारा। इनके बीच यह तकरार लंबे समय से चली आ रही है। मामले की जानकारी के बाद पुलिस अस्पताल पहुंच गई थी, महिला पुलिस अधिकारी संजीता मिंज ने बताया कि मामला संज्ञान में ले लिया है। अस्पताल में भारी भीड जमा हो गई थी।

पुलिस के अनुसार सुभाषपुरा थाने पर तैनात 108 का पायलट शादाब निवासी नरवर 8 साल पहले से पड़ोस में रहने वाली लड़की प्रेमलता से प्यार करता है, जबकि उसका निकाह 2013 में आसमां के साथ हुआ, इस बीच प्रेमलता की भी शादी राजस्थान हुई, लेकिन शादी के बाद भी जब प्रेमलता और शादाब का प्यार जारी रहा, तो शादाब प्रेमलता को अपने साथ रखने कह जिद पर अड़ा नतीजे में प्रेमलता ने अपने पति को तलाक दे दिया और वह एक साल पहले शाादाब के साथ आकर रहने लगी। इन दोनों के साथ रहने की बात पर आसमां से विवाद की शुरुआत हो गई।

प्रेमलता ने खाया 15 दिन पहले जहर

प्रेमलता ने 15 दिन पहले जहर गटका था, लेकिन वह बच गई। वह कहती है कि उसने कोर्ट मैरिज भी की है, जिसकी जानकारी आसमां को है, लेकिन आसमां शादाब को तलाक देने तैयार नहीं। इधर प्रेमलता, शादाब की दूसरी पत्नी बनकर रहने को तैयार नहीं इसी कलह में रोज झगडे से तंग शादाब ने आज जहर गटक लिया। शादाब एक बार घर छोड़कर भी भाग गया था, जिसकी सूचना प्रेमलता ने पुलिस थाने में दर्ज कराई। दो दिन बाद पुलिस शादाब को पकड़कर ले आई

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani