इजरायली पीएम नेतन्याहू ने मंच से ही स्वीकारा पीएम मोदी का भारत आने का न्यौता

इजरायल के राष्ट्रपति रुवेन रिवलिन से मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वहां के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ बैठक जारी है. इस मुलाकात के बाद दोनों राष्ट्राध्यक्षों ने साझा प्रेस कांफ्रेंस में दोनों देशों के बीच हुए तमाम समझौते की जानकारी दी गई. इस दौरान दोनों देशों के अधिकारियों ने समझौते से संबंधित दस्तावेजों का आदान-प्रदान भी किया.

इजरायल से कृषि क्षेत्र के लिए और गंगा की सफाई के लिए समझौता तो हुआ ही साथ ही साथ इसरो और इजरायल की स्पेस एजेंसी के बीच भी करार हुआ है.

इसके बाद इजरायल पीएम नेतन्याहू ने अपने भाषण में एक बार फिर पीएम मोदी को मेरे दोस्त कहकर संबोधित किया. उन्होंने कहा, आप इतिहास रच रहे हैं.

इजरायल के प्रधानमंत्री ने कहा, ‘कल मोदी जी ने कहा था कि हम मिलकर दुनिया बदल सकते हैं, लेकिन अब मुझे लग रहा है कि हम कई क्षेत्रों में मिलकर नई इबारत लिख सकते हैं. हमें कई संभावनाएं नजर आ रही हैं. दो दिनों में पीएम मोदी से हुई बातचीत के बाद काफी उत्साहित हूं. हम बात कर रहे हैं एक साथ काम करने की. हम बात कर रहे हैं थर्ड वर्ल्ड की. हम आतंकवाद की चुनौती झेल रहे हैं. हम अब एकदूसरे के साथ इस मामले में मिलकर लड़ेंगे. मुंबई हमले का शिकार हुए मोशे से मिलकर पीएम मोदी इस बात की तस्दीक करेंगे. अपने भाषण के बाद नेतन्याहू ने एक बार फिर मोदी को मेरे दोस्त कहा और गले लगाया.’

वहीं पीएम मोदी ने अपने संबोधन में सबसे पहले इजरायली पीएम नेतन्याहू को धन्यवाद दिया और शानदार डिनर का भी जिक्र किया. इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा, इजरायल आकर सम्मानित महसूस कर रहा हूं. हमारे बीच कई तरह के मुद्दों पर बातचीत हुई. हमने बात की कि कैसे हम आपस में मिलकर विश्व में स्थिरता और शांति स्थापित कर सकते हैं. इजरायल नई खोज, पानी, और कृषि में सबसे आगे है. भारत के विकास के लिए इन अनुसंधानों की जरूरत है. हम अपनी दोस्ती को नई ऊंचाई देंगे.

पीएम मोदी ने साथ ही कहा, भारत और इजरायल भौगोलिक तौर पर काफी परेशान रहता है. हम एकदूसरे को भौगोलिक तौर पर सुरक्षा दिलाने की भी कोशिश करेंगे. भारत के यहूदी हमें हमारे रिश्तों की याद दिलाते हैं. इजरायल के तमाम टूरिस्ट भारत आते हैं. इसी तरह भारत के तमाम छात्र इजरायल की यूनिवर्सिटी में पढ़ने की उम्मीद रखते हैं. हाइवा हमारे देश का प्रिय है, जहां भारत के तमाम वीरों ने पहले विश्वयुद्ध के दौरान अपनी आहुति दी थी. मैं पीएम नेतन्याहू, उनकी पत्नी और उनके परिवार को भारत आने का न्यौता देता हूं. मंच से ही नेतन्याहू ने पीएम मोदी के भारत आने के न्यौते को स्वीकार भी कर लिया है.

प्रधानमंत्री मोदी अब इसके बाद मुंबई आतंकी हमले के पीड़ित बेबी मोशे से मुलाकात करेंगे. मोशे अपने परिवार के साथ पीएम मोदी से होटल में मुलाकात करेगा.

इससे पहले राष्ट्रपति रिवलिन ने प्रोटोकॉल तोड़कर पीएम मोदी का स्वागत किया. दोनों नेता एक दूसरे से गले भी मिले. इस दौरान पीएम मोदी सफेद सूट पहने हुए थे और नीली रुमाल लिए थे. दरअसल, इजरायल के झंडे का रंग सफेल और नीला है.

इस मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देशों के नाम की शुरुआत आई से होती है. आई फॉर इंडिया और आई फॉर इजरायल यानी इंडिया इजरायल के लिए है और इजरायल इंडिया के लिए है. उन्होंने कहा कि आई विद इजरायल और आई विद इंडिया यानी इंडिया इजरायल के साथ और इजरायल भारत के साथ. इसके अलावा मोदी ने इजरायल का मतलब इजरायल इज रियल फ्रेंड बताया.

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani