देश में पहली बार: इंदौर एयरपोर्ट पर पवन ऊर्जा से बनेगी बिजली, रोशन होगा ऑपरेशन एरिया

इंदौर.देवी अहिल्या विमानतल पर आने वाले समय में पवन ऊर्जा से बिजली तैयार की जाएगी। संभवत: इंदौर देश में ऐसा करने वाला पहला एयरपोर्ट होगा। इसके लिए विमानतल प्रबंधन प्रस्ताव तैयार कर रहा है। इस पर जल्द मंजूरी मिलने पर इसका काम शुरू किया जाएगा।

इस प्रोजेक्ट से बनने वाली बिजली का उपयोग एयरपोर्ट के ऑपरेशन एरिया की सड़कों को रोशन करने के लिए किया जाएगा। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) देश के सभी विमानतलों पर प्राकृतिक उर्जा के इस्तेमाल पर जोर दे रही है। इसके तहत इंदौर एयरपोर्ट पर 60 एकड़ जमीन पर सौर उर्जा प्लांट भी तैयार किया जा रहा है।
ये प्लांट 4.30 करोड़ रुपए खर्च कर तैयार किया जाएगा। इसे 31 मार्च 2018 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। वहीं अब एयरपोर्ट पर पवन उर्जा उत्पादन की भी तैयारी की जा रही है। इसके लिए एयरपोर्ट डायरेक्टर अर्यमा सान्याल के नेतृत्व में टीम प्रोजेक्ट तैयार कर रही है।
मुख्यालय को जल्द भेजा जाएगा प्रस्ताव
अधिकारियों के मुताबिक मुख्यालय को प्रस्ताव भेजा जाएगा। इसमें किस एरिया में प्रोजेक्ट स्थापित किया जाएगा, कितना खर्च होगा और कितनी बिजली उत्पादित होगीकितनी बचत होगी जैसी जानकारियां एक्सपर्ट रिपोर्ट के साथ शामिल की जाएंगी। मंजूरी मिलने पर विद्युत कंपनी के साथ प्रोजेक्ट को पूरा किया जाएगा।
हवा से हर वक्त बन सकती है बिजली
प्रोजेक्ट तैयार करने वाले अधिकारियों की मानें तो सौर उर्जा सिर्फ धूप निकलने पर एकत्रित की जा सकती है। रात के समय या खराब मौसम में इसमें परेशानी हो सकती है, लेकिन पवन उर्जा पूरे समय तैयार की जा सकती है। इसके लिए एयरपोर्ट परिसर में या प्रशासन से अनुमति लेकर फनल एरिया (विमानों के उड़ने और उतरने की हवाई पट्‌टी) को छोड़कर आसपास के क्षेत्रों में पवन चक्कियां लगाई जा सकती हैं। प्रबंधन के मुताबिक शुरुआत में इस बिजली का उपयोग विमानतल परिसर के ऑपरेशन एरिया की चारों ओर बनी बाउंड्रीवॉल से लगी सड़क सहित अंदर की अन्य सड़कों को रोशन करने के लिए किया जाएगा। इस पर लगातार निगरानी रखी जाती है, खासतौर पर रात के समय।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani