लॉस वेगास गोलीबारी कांड:अब तक 59 की मौत, 515 जख्मी, मनोरोगी था हमलावर

अमेरिका के लॉस वेगास में एक म्यूजिक कंसर्ट के दौरान हुई गोलीबारी की जिम्मेदारी खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है। इस गोली बारी में मरने वालों की संख्या 59 पहुंच गई है, जबकि 515 से अधिक लोग घायल हुए हैं। इसे आधुनिक अमेरिका के इतिहास की सबसे भयावह गोलीबारी कांड बताया जा रहा है। अमेरिका की संघीय जांच एजेंसी (FBI) ने इस घटना में किसी अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन की संलिपप्तता से इनकार किया है। इससे पहले समाचार एजेंसी रायटर्स के हवाले से मिली खबर के मुताबिक इस्लामिक स्टेट ने हमले की जिम्मेदारी लेते ​हुए कहा था कि गोलीबारी करने वाले व्यक्ति ने हाल ही में इस्लाम कबूल किया था।

यह हमला मैंडले बे रिजॉर्ट एंड कैसीनो होटल के 32वीं मंजिल से किया गया। लॉस वेगास पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर बताया कि एक संदिग्ध हमलावर को मार गिराया गया है। पुलिस ने होटल के कमरे में छोटे धमाकों के जरिए प्रवेश करने में सफलता पाई। शूटर स्टीफन पैडक (64) लॉस वेगास का ही रहने वाला था। पुलिस को फिलिपिनो ओरिजिन की मेरिलाउ डैनले नाम की एक महिला की भी तलाश है। ऐसा बताया जा रहा है कि यह महिला हमलावर की साथी है। डैनले को पुलिस ने ‘पर्सन आॅफ इंटरेस्ट’ नाम दिया है। पुलिस ने इस महिला का फोटो भी जारी किया है।

मैंडले बे रिजॉर्ट एंड कैसीनो होटल परिसर में आयोजित कंसर्ट में जैसे ही गायक जेसन एलडिन ने गाना शुरू किया, वैसे ही गोलियां चलने की आवाज आने लगी। पहले लोगों ने उस पर खास ध्यान नहीं दिया, लेकिन जैसे ही चीख-पुकार मची, लोग आतंकी हमला समझकर भागने लगे। इस म्यूजिक कंसर्ट में करीब 40000 हजार लोग मौजूद थे। भीड़ में जिसे जिधर रास्ता दिखाई दिया, भाग लिया। रात के समय लोग समझ नहीं पा रहे थे कि गोलियां किधर से आ रही हैं। इसी के चलते बड़ी संख्या में लोग गोलियों के शिकार बने। भगदड़ में कुछ लोग कुचले जाने से भी घायल हुए।

प्रत्यक्षदर्शी लोम्बार्डो के अनुसार हमलावर के रुख से नहीं लग रहा था कि उसे किसी का डर था। वह मनमाने ढंग से फायरिंग कर रहा था। नजारा भयभीत करने वाला था। इससे पहले अमेरिका में जून 2016 में ओरलैंडो के नाइट क्लब में हुई फायरिंग की घटना में 49 लोग मारे गए थे। वह घटना आतंकी संगठन आइएस के हमलावर ने अंजाम दी थी। हालांकि इस घटना के बारे में दो वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारियों का कहना है हमलावर मानसिक रूप से बीमार था। उसकी इस बीमारी का पुराना इतिहास है। इस घटना के आइएस से जुड़ाव का कोई सुबूत नहीं है।

हमलावर के पास थीं आठ बंदूकें-राइफलें
होटल की 32वीं मंजिल पर स्थित हमलावर स्टीफन पैडक के कमरे से पुलिस ने अलग-अलग कैलीबर की आठ बंदूकें और राइफलें बरामद की हैं। इनमें कुछ लंबी दूरी तक मार करने वाली राइफलें हैं। ज्यादा लोगों को निशाना बनाने के उद्देश्य से स्टीफन बड़ी संख्या में कारतूस और मैगजीन लेकर बैठा था।
एयरपोर्ट की गतिविधियां रुकीं
मैंडले बे रिजॉर्ट लास वेगास के मैककैरेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट के नजदीक है। इसके कारण हमले की सूचना मिलते ही विमानों की उड़ान रोक दी गई और जो विमान उतरने वाले थे उन्हें नजदीकी हवाई अड्डों के लिए डायवर्ट कर दिया गया। हालात नियंत्रित होने पर हवाई अड्डे की गतिविधियां फिर शुरू हुईं। ट्रैफिक पुलिस ने इलाके का यातायात भी डायवर्ट कर दिया जिससे भागते लोगों को सड़क दुर्घटना का शिकार होने से बचाया जा सके।

कोई भारतीय प्रभावित नहीं:विदेश मंत्रालय
लास वेगास की घटना में किसी भारतीय के प्रभावित होने की सूचना नहीं है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया, ‘सेन फ्रांसिसको स्थित हमारा वाणिज्य दूतावास स्थिति पर नजर बनाए हुए है।’

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani