बिलासपुर में राइस मिलर की संपत्ति को आयकर विभाग ने किया कुर्क, 81.95 करोड़ रुपये टैक्स था बकाया

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बिलासपुर (Bilaspur) में आयकर विभाग (Income tax department) ने बड़ी कार्रवाई की है. विभाग ने मेसर्स हरिओम राइस मिल प्राइवेट लिमिटेड की संपत्ति को कुर्क कर लिया है. कंपनी पर 81 करोड़ 95 लाख रुपये का कर बकाया था. जानकारी के मुताबिक मस्तूरी दर्रीघाट में संचालित मेसर्स हरिओम राइस मिल प्राइवेट लिमिटेड पर आयकर का 81 करोड़ 95 लाख रुपये बकाया है. नोटिस जारी कर विभाग ने कंपनी को तय समय में कर जमा करने कहा था, लेकिन कंपनी लम्बे समय से नोटिस का कोई जवाब नहीं दे रही थी.

​कंपनी को ओर से जवाब नहीं मिलने पर बिलासपुर (Bilaspur) आयकर आयुक्त की टीम ने बीते सोमवार को मुनादी कर राइस मिल के अचल सम्पत्ति को कुर्क कर लिया. बताया जा रहा है कि कंपनी के पर बैंकों का भी कर्ज बकाया है. नोटिस चस्पा कर पंजाब नेशनल बैंक ने भी कंपनी को डिफॉल्टर घोषित किया है. लंबे समय से बैंकों की किश्त भी जमा नहीं कराई गई है, जिसके कारण कार्रवाई की गई है.

लंबे समय से भुगतान नहीं होने पर कार्रवाई

आयकर विभाग बिलासपुर के अंजनी कुमार सिंह का कहना है कि लंबे समय से कर का भुगतान नहीं किए जाने के कारण विभाग ने कार्रवाई की है. संपत्ति कुर्क किए जाने के बाद अब आगे की कार्रवाई की जाएगी. बता दें कि मेसर्स हरिओम राइस मिल प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के डायरेक्टर सुभाष अग्रवाल और बन्दिता गोयल हैं, जो राजकिशोर नगर क्षेत्र के रहने वाले बताए जा रहे हैं.

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter