SBI को चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 2,416.37 करोड़ रुपये का नुकसान

देश के सबसे बड़े भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 2,416.37 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज किया है।

एसबीआई, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, वित्त वर्ष, एनपीए, sbi 1 दिसंबर को खत्म हुई तिमाही में कुल 2,416.37 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज किया है
देश के सबसे बड़े भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 2,416.37 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज किया है। बैंक ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। बम्बई स्टॉक एक्सचेंज में दाखिल नियामकीय फाइलिंग में बैंक ने कहा कि उसने 31 दिसंबर को खत्म हुई तिमाही में कुल 2,416.37 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज किया है, जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में बैंक ने 2,610 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया था।

समीक्षाधीन तिमाही में एसबीआई की कुल आय 62,887.06 करोड़ रुपये रही, जोकि 31 दिसंबर, 2016 को खत्म तिमाही में 53,587.51 करोड़ रुपये थी। समीक्षाधीन अवधि में एसबीआई का सकल फंसा हुआ कर्ज (गैर-निष्पादित परिसंपत्तियां या जीएनपीए) 1,99,141.34 करोड़ रुपये रहा, तथा शुद्ध एनपीए 1,02,370.12 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2016-17 की तीसरी तिमाही के दौरान जीएनपीए 1,08,172.32 करोड़ रुपये तथा एनपीए 61,430.45 करोड़ रुपये था।

आपको बता दें कि एसबीआई यानी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का एनपीए लगातार बढ़ा है। आपको ूबता दें कि बैंकों के लगातार बढ़ते एनपीए पर वित्त मंत्रालय द्वारा कुछ दिनों पहले एक रिपोर्ट जारी की थी। अगर सबसे ज्यादा एनपीए की बात करें तो, देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई(स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) खातों में एनपीए सबसे ज्यादा है। एसबीआई के 265 खातों में 100 करोड़ प्रत्येक से अधिक का बकाया था। सितंबर तिमाही के खत्म होने तक बैंक के इस तरह के खातों पर कुल मिलाकर 77,538 करोड़ का एनपीए था। रिपोर्ट की मानें तो सरकारी बैंकों के मामले में सबसे ज्यादा अधिक एनपीए सरकारी बैंको का एसबीआई के नाम पर दर्ज है।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: reporter