इस भारतीय क्रिकेटर ने कहा, काश, मेरे पिता सफलता देखने के लिए मौजूद होते

नई दिल्ली, पीटीआइ : महिला क्रिकेट टीम की सदस्य राजेश्वरी गायकवाड़ ने कहा कि उन्हें विश्व कप से लौटने के बाद लोगों से इस तरह की प्रतिक्रिया की उम्मीद नहीं थी, जिसे देखकर उन्हें काफी खुशी हुई। उन्होंने कहा कि यह देखकर अच्छा लगता है। काश, मेरे पिता यह सब देखने के लिए मौजूद होते।

मुझे लगता है कि उन्हें सबसे ज्यादा गर्व होता। राजेश्वरी के लिए सब कुछ इतना आसान नहीं रहा। जैसे ही उन्होंने भारत के लिए पदार्पण किया, उन्होंने अपने पिता शिवानंद को गंवा दिया, जो उनके सबसे बड़े प्रेरणास्नोत थे। उन्होंने कहा कि मुझे हर दिन उनकी कमी महसूस होती है।

मैं 2014 में श्रीलंका के खिलाफ टी-20 सीरीज में खेलने के बाद लौटी थी और उनका निधन हो गया। जब मैं मैदान पर कदम रखती हूं तो लगता है कि वह कहीं से मुझे देख रहे हैं। बीजापुर के बारे में बात करते हुए राजेश्वरी की आंखों की चमक बढ़ गई, उन्होंने कहा कि हां, मैं ऐसे ऐतिहासिक स्थान से हूं जो वास्तुकला के लिए मशहूर है, पर शायद अब लोग जान गए हैं कि भारत की एक क्रिकेटर वहां रहती है।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani