सूरत में 251 बेटियां एकसाथ बनीं दुल्हन, हीरा व्यापारी ने कन्यादान किया

सूरत। गुजरात के सूरत शहर में रविवार को 251 बेटियां एकसाथ दुल्हन बनीं। यहां हुए एक सामूहिक विवाह में पांच मुस्लिम दंपती, एक ईसाई दंपति और एचआईवी से पीड़ित दो महिलाएं भी शामिल थीं। पारंपरिक परिधान और गहने पहनीं इन लड़कियों का उनके धर्म के मुताबिक विवाह करवाया गया।

इन सभी लड़कियों के सामूहिक विवाह और कन्यादान की जिम्मेदारी निभाई हीरा व्यापारी महेश सवानी ने। वह कहते हैं कि एक सामाजिक दायित्व मानकर वह लड़कियों के पिता बनने की जिम्मेदारी उठाते हैं। इस बार सूरत में हुए सामूहिक विवाह में कारोबारी संजय मोवालिया ने भी सहयोग किया। समारोह में बड़ी तादाद में मेहमान पहुंचे।

ईसाई दंपती की “रिंग सेरेमनी” के लिए एक आकर्षक स्टेज भी तैयार किया गया था। बताया गया कि इस भव्य समारोह में 251 तरह की मिठाइयां भी बनवाई गई थी।

2008 से निभा रहे हैं पिता की भूमिका

सवानी ने वर्ष 2008 से यह जिम्मेदारी निभाना शुरू की जब उनके एक कर्मचारी का बेटी के विवाह से कुछ दिन पहले निधन हो गया था। तब से सवानी राज्य में ऐसी सभी लड़कियों के विवाह की जिम्मेदारी उठा रहे हैं जिनके पिता नहीं हैं। अब तक वह एक हजार बेटियों का विवाह करवा चुके हैं।

सवानी लड़कियों के परिधान, गहने से लेकर उन्हें गृहस्थी बसाने के लिए जरूरी चीजें तक भेंट करते हैं। बीते वर्ष उन्होंने प्रत्येक लड़कियों को सोने के गहने सहित पांच लाख रुपए तक की चीजें भी दी।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani