आतंकवाद और खेल साथ-साथ नहीं चल सकते, पाकिस्‍तान के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज संभव नहीं : सरकार

नई दिल्‍ली: केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल ने पाकिस्‍तान के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज की संभावनाओं को सिरे से खारिज किया है. खेल मंत्री ने कहा कि ऐसे समय जब सीमा पार से आतंकी घटनाएं लगातार हो रही हैं, खेल संभव नहीं है. उन्‍होंने जोर देकर कहा कि आतंक और खेल एक साथ नहीं हो सकते हैं.

गोयल ने कहा कि पाकिस्‍तान के साथ मौजूदा समय में खेल के संबंध नहीं बनाए जा सकते. सीमा पार से पाकिस्‍तान आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा दे रहा है, ऐसे में उसके साथ द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज संभव नहीं है. भारतीय क्रिकेट टीम इस समय क्रिकेट की शीर्ष संस्‍था इंटरनेशनल क्रिकेट टूर्नामेंट (आईसीसी) के टूर्नामेंट में पाकिस्‍तान से मैच खेलती है. इसी के तहत चैंपियंस ट्रॉफी में चार जून को दोनों टीमों के बीच मुकाबला खेला जाना है, लेकिन द्विपक्षीय सीरीज को लेकर केंद्र सरकार का रुख स्‍पष्‍ट है. सरकार का मानना है कि पाकिस्‍तान देश में आतंकवाद को बढ़ावा देने में संलिप्‍त है, ऐसे में उसके साथ क्रिकेट सीरीज नहीं खेली जा सकती.

गौरतलब है कि खेल मंत्री का यह बयान बीसीसीआई के एक पदाधिकारी की ओर से हाल में बयान में बाद सामने आया है. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा था कि अगर सरकार की सहमति होती है, तो पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज संभव है. एक समाचार चैनल को दिए बयान में चौधरी ने यह बात कही थी. चौधरी ने कहा था, “हम पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज के खिलाफ नहीं हैं लेकिन सब कुछ सरकार की अनुमति पर निर्भर करता है” उन्होंने कहा था कि सरकार की अनुमति के बगैर पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज संभव नहीं है.”

2012 में हुई थी पिछली द्विपक्षीय सीरीज
पिछली बार पाकिस्तान और भारत के बीच दिसम्बर, 2012 में द्विपक्षीय सीरीज का आयोजन हुआ था. इस सीरीज के लिए पाकिस्तान की टीम भारत आई थी और दोनों टीमों के बीच तीन वनडे सीरीज और दो टी-20 सीरीज खेली गईं थी.

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani