पूर्व मंत्री का ‘रिश्तेदार’ निकला फर्जी डॉक्टर, पोल खुलते ही हुआ फरार

मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले के बैहर सामुदयिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ एमबीबीएस डॉक्टर की डिग्री फ़र्ज़ी पाये जाने के बाद हड़कंप मच गया है. मामला उजागर होने के बाद कथित आरोपी डॉक्टर नौकरी छोड़कर फरार हो गया है.

मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले के बैहर सामुदयिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ एमबीबीएस डॉक्टर की डिग्री कथित रुप से फ़र्ज़ी पाये जाने के बाद हड़कंप मच गया है. मामला उजागर होने के बाद कथित आरोपी डॉक्टर नौकरी छोड़कर फरार हो गया है.

फर्जी डॉक्टर कथित रुप से पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते का रिश्तेदार बताया जा रहा है. कुलस्ते इन आरोपों का खंडन तो नहीं कर रहे है. बल्कि, अपनी सफाई में ये कह रहे हैं कि सभी उनके रिश्तेदार है.

बालाघाट सीएमएचओ डॉक्टर के.के.खोसला का दावा है कि खुद को एमबीबीएस गोल्ड मेडलिस्ट बताने वाले पंकज टेकाम की डिग्री फ़र्ज़ी है. हैरत की बात तो यह है कि एक फ़र्ज़ी डॉक्टर पिछले एक साल से इलाज के नाम पर लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहा था और स्वास्थ्य महकमा व जिला प्रशासन को इस बात की जानकारी तक नहीं थी.

कांग्रेस का आरोप है कि फ़र्ज़ी एमबीबीएस डॉक्टर पंकज टेकाम पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री व मंडला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते का रिश्तेदार है.

इस मामले में जब पूर्व मंत्री व मंडला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते से बात की तो वो गोलमोल जवाब देते हुये नजर आये. कुलस्ते का कहना है कि हम जनप्रतिनिधि हैं और हमारा काम लोगों की मदद करना है. दस्तावेज सही हैं या नहीं है यह देखना प्रशासनिक अधिकारियों का काम है.

फ़र्ज़ी एमबीबीएस डाक्टर से रिश्तेदारी के सवाल पर कुलस्ते ने सीधे तौर पर कुछ नहीं कहा लेकिन उनका बयान ही समझने के लिये काफी है. स्वास्थ्य विभाग की पोल खुलने के बाद अब जवाबदार अधिकारी अपनी नौकरी बचाने के लिये फ़र्ज़ी डाक्टर के खिलाफ कार्रवाई की बात करते नजर आ रहे हैं.

वहीं मंडला के कांग्रेस विधायक संजीव उइके ने पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री रहे मंडला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने इस मामले को व्यापम घोटाले से जोड़ते हुए न्यायिक जांच की मांग की है.

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani