सचिन-गावस्कर से पहले पॉली थे ‘बादशाह’, जड़ा था पहला दोहरा शतक

भारतीय क्रिकेट इतिहास के महान बल्लेबाजों में से एक पहलवान रतनजी ‘पॉली’ उमरीगर का साल 2006 में 7 नवंबर को निधन हो गया था. उमरीगर भारत के उन बल्लेबाजों में से हैं, जिन्होंने टीम के लिए कई इतिहास रचे हैं. आइए जानते हैं पॉली उमरीगर के करियर और उनकी निजी जिंदगी से जुड़ी कई दिलचस्प बातें…

उमरीगर सिर्फ एक बल्लेबाज ही नहीं थे, जबकि अच्छे बल्लेबाज भी थे. वो गजब के ऑफ स्पिनर थे और सलामी गेंदबाजी संभालते थे. क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर से पहले उमरीगर ही ऐसे खिलाड़ी थे, जो कि बल्लेबाजी में भारत के लिए रिकॉर्ड बनाते थे.

वो दोहरा शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं. उन्होंने 1955 में 233 रनों की शानदार पारी के साथ न्यूजीलैंड के खिलाड़ पहला दोहरा शतक जोड़ा था.

वीनू मांकड के अलावा दूसरे भारतीय खिलाड़ी बने, जिन्होंने एक पारी में शतक लगाने और पांच विकेट लेने का कमाल दिखाया था. वो आउटस्विगंर के लिए जाने जाते थे. 1962-78 के बीच सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने, सबसे ज्यादा रन बनाने, सबसे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड उनके नाम था. इन रिकॉर्ड को सुनील गावस्कार ने तोड़ा था

पॉली सिर्फ क्रिकेट ही नहीं बल्कि हॉकी और फुटबॉल के भी अच्छे खिलाड़ी थे. उन्हें भारतीय क्रिकेट में योगदान के लिए पद्म श्री से सम्मानित किया गया था.

क्रिकेट से अलविदा होने के बाद भी उन्होंने भारतीय क्रिकेट से नाता नहीं तोड़ा और वो चयन समिति के चेयरमैन और बीसीसीआई एग्जीक्यूटिव सेकरेट्री के रुप में भारतीय क्रिकेट से जुड़े रहे

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani