सैनिक का पार्थिव शरीर पहुंचा देवास, गांव में सभी की आंखें नम

देवास। श्रीनगर में हुए एक हादसे में गोली लगने से सैनिक निलेश धाकड़ (26) की मौत हो गई थी। गुरुवार सुबह उनकी पार्थिव देह देवास पहुंची। धाकड़ पांच साल पहले सेना में भर्ती हुए थे। वर्तमान में उनकी पोस्टिंग श्रीनगर में थी। सोनकच्छ तहसील में स्थि‍त उनके गृहग्राम घिचलाय में निलेश धाकड़ को सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाएगी। गांव के रास्ते में जगह-जगह अंतिम विदाई देने के‍ लिए 50 से अधिक मंच बनाए गए हैं।

अगले साल होना थी शादी

जानकारी के मुताबिक निलेश के परिवार में माता नर्मदाबाई, पिता सुखराम (55), एक बड़ा भाई रजनीश धाकड़ व एक बड़ी बहन सरिता धाकड़ है। पिता के पास 8 से 10 बीघा जमीन है। बड़े भाई और बहन का विवाह हो गया है। जबकि निलेश की शादी मई-जून 2018 में होना तय हुई थी। निलेश की सगाई हाटपीपल्या क्षेत्र के ग्राम बरखेड़ासोमा में हुई थी। निलेश पांच वर्ष से भारतीय सेना में है।

12वीं के बाद ही भर्ती हो गए थे

निलेश की पहली पोस्टिंग अंबाड़ा पंजाब में हुई थी। उन्होंने अपनी प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा इंदू बाल विनय मंदिर घिचलाय में पूर्ण की। इसके बाद कक्षा 9वीं से 12वीं तक की शिक्षा सरस्वती शिशु मंदिर पीपलरावां से की है। निलेश कक्षा 12वीं के बाद सेना में भर्ती हो गए थे।

करीब 6 माह पहले निलेश छुट्टी पर गांव आए थे। इस दौरान निलेश का एक्सीडेंट भी हो गया था। तब परिजन उपचार के लिए महू ले गए थे। यहां से उन्हें उपचार के लिए लखनऊ भेजा गया था। वहां से उपचार कराने के बाद 15 दिन घर पर रहे थे और ड्यूटी चले गए थे। तब से वे गांव नहीं आए थे।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani