इस क्रिकेटर के पिता का हुआ आकस्मिक निधन, IPL छोड़ लौटा घर

नई दिल्ली । भारतीय टीम के युवा खिलाड़ी और आईपीएल-10 में दिल्ली की ओर से खेल रहे ऋषभ पंत के पिता राजेंद्र पंत का बुधरात रात आस्मिक निधन हो गया। वह 53 साल के थे। पिता के मौत की खबर मिलते ही ऋषभ आईपीएल छोड़ घर वापस चले गए।

बता दें कि रात नौ बजे जब उन्हें पत्नी सरोज पंत ने खाने के लिए उठाने की कोशिश की तो वह नहीं उठे। आनन-फानन में उन्हें रुड़की रेलवे रोड स्थित एक निजी हॉस्पिटल में ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

इसके बाद तुरंत ऋषभ को इसकी सूचना दी गई और वह टीम मैनजमेंट को सूचित कर घर पहुंचे। गुरुवार को उन्होंने पिता का हरिद्वार में अंतिम संस्कार किया। बता दें कि दिल्ली डेयरडेविल्स का पहला मैच 8 अप्रैल को होगा।

अब देखना होगा कि शोक में डूबे ऋषभ कब तक टीम से वापस जुड़ते हैं। हालांकि रणजी में दिल्ली की ओर से खेलते हुए इस बार उन्होंने शादार प्रदर्शन किया था। ऐसे में फैंस को इस आईपीएल में भी उनसे बेहतरीन बल्लेबाजी की उम्मीद थी।

बता दें कि उत्तराखंड के रुडकी में ऋषभ पंत का पैतृक गांव है। यह विकेटकीपर बल्लेबाज धोनी को अपना आदर्श मानता है। ऋषभ बचपन से ही पिता से कहते थे कि एक दिन वह टीम इंडिया के लिए खेलेंगे। जब ऋषभ रुडकी से प्रैक्टिस के लिए दिल्ली आते तो कई बार मोती बाग गुरुद्वारे में लंगर खाते थे। साथ ही अक्सर वहां सो भी जाते। पिता का मानना था कि ऋषभ ने अपने सपनों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत की है।

लंबे छक्के जड़ने के महारथी ऋषभ ने इस सीजन दिल्ली की ओर से रणजी में खेलते हुए 49 छक्के मारे हैं। 8 मैचों की 12 पारियों में इस बल्लेबाज ने 81 की औसत से 972 रन बनाए। इनमें 4 शतक और 2 अर्धशतक भी शामिल हैं।

19 वर्षीय पंत ने 14 आईपीएल मैचों में 136.26 की स्ट्राइक रेट के साथ 263 रन बनाए, जबकि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर वह महज 1 ही टी-20 मैच खेल सके, जिसमें उन्होंने नाबाद 5 रन बनाए। अब इस बार आईपीएल में क्विंटन डि कॉक और जेपी ड्यूमिनी की गैर-मौजूदगी में पंत पर जिम्मेदारियां बढ़ गई हैं। ऐसे में पिता के गुजर जाने के बाद देखना होगा कि इसका उनके खेल पर कितना अधिक प्रभाव पड़ता है।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani