उत्तर कोरिया आतंकवाद समर्थक देश घोषित, चीन ने कहा- बातचीत हो

अमेरिका ने उत्तर कोरिया को आतंकवाद प्रायोजित देश घोषित कर दिया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के इस फैसले के बाद चीन उत्तर कोरिया में परमाणु संकट के समाधान को बातचीत के जरिए हल करने की कोशिश कर रहा है। गतिरोध को खत्म करने के लिए बीजिंग बार-बार जोर दे रहा है। कुछ विश्लेषकों ने चेतावनी दी है कि अमेरिकी के इस फैसले के बाद तनाव और बढ़ सकता है।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा “हम अब भी उम्मीद करते हैं कि तनाव खत्म करने के लिए सभी संबंधित पक्ष योगदान दे सकते हैं। जिससे संबंधित पक्ष बातचीत के जरिए कोरियाई प्रायद्वीप के मुद्दे को सही रास्ते पर लाएं।”

उन्होंने कहा कि इस संबंध में अधिक से अधिक किया जाना चाहिए। चीन ने विवाद खत्म करने के लिए “ड्यूल ट्रैक अप्रोच” बातचीत की थी। जिसके तहत अमेरिका दक्षिण कोरिया में अपने सैन्य अभ्यासों को बंद करता और उत्तर कोरिया अपने हथियार कार्यक्रमों को रोकता। हालांकि चीन की इस पहल को तवज्जो नहीं मिली थी।

आतंकी समर्थन देशों में शामिल उत्तर कोरिया

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को ऐलान किया कि उनका देश उत्तर कोरिया को चरमपंथ का समर्थन (स्पॉन्सर ऑफ टेररिज़्म) करने वाले देशों की सूची में दोबारा शामिल कर रहा है। करीब नौ साल पहले उत्तर कोरिया का नाम इस लिस्ट से हटा दिया गया था। ट्रंप ने कहा, “ये काफी वक्त पहले कर दिया जाना चाहिए था।”

राष्ट्रपति ट्रंप ने कैबिनेट मीटिंग में कहा कि इस कदम के बाद उत्तर कोरिया पर ‘बड़े पैमाने’ पर अतिरिक्त प्रतिबंध लगाए जाएंगे जिनका ऐलान मंगलवार को किया जाएगा। ट्रंप ने उत्तर कोरिया को इस सूची में शामि

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani