पेपर लीक मामला: HRD ने बनाई 7 सदस्‍यों की हाईप्रोफाइल कमेटी

नई दिल्ली: मानव संसाधन मंत्रालय (एचआरडी) ने अर्थशास्त्र (12वीं) और गणित (10वीं) का पर्चा लीक होने के बाद सीबीएसई परीक्षा प्रक्रिया की जांच के लिए एक ‘उच्च स्तरीय समिति’ का गठन किया है. इस समिति की अध्यक्षता पूर्व शिक्षा सचिव विनय शील ओबरॉय कर रहे हैं. ये कमेटी पेपर बनाने से लेकर पेपर जांचने तक की पूरी प्रक्रिया की जांच करेगी और कमियों को उजागर कर प्रणाली को बेहतर बनाने के लिए सुझाव भी देंगे. यह कमेटी अपनी रिपोर्ट 31 मई 2017 तक जमा करनी है.

एचआरडी के पूर्व सचिव वी एसओ बेरॉय की अध्यक्षता वाला पैनल प्रक्रिया को‘‘ तकनीक के जरिए सुरक्षित एवं आसान’’ बनाने के उपायों पर भी सुझाव देगा. एचआरडी के स्कूली शिक्षा सचिव अनिल स्वरूप ने कहा, ‘‘ सरकार ने सीबीएसई परीक्षाओं की प्रक्रिया की जांच करने और प्रक्रिया को तकनीक के जरिए सुरक्षित एवं आसान करने के उपाय सुझाने के लिए एचआरडी के पूर्व सचिव वी एस ओबेरॉय की अध्यक्षता मेंकल एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया, जिसमें कई विशेषज्ञ शामिल हैं.’’

पिछले कई दिनों से लीक की खबरों के बीच केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की परीक्षाओं की प्रक्रिया पर सवाल उठ रहे थे, जिसके बाद यह कदम उठाया गया. एचआरडी मंत्रालय ने पिछले सप्ताह 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा 25 अप्रैल को दोबारा कराने की घोषणा की थी.

मंत्रालय ने हालांकि कहा था कि यदि जरूरत पडी तो 10 वीं की गणित की परीक्षा दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा में जुलाई में कराई जाएगी. हालांकि कल उन्होंने 10वीं की पुन: परीक्षा नहीं कराने की बात कही. दिल्ली पुलिस ने लीक के संबंध में दो मामले दर्ज किए हैं.

सीबीएसई के क्षेत्रीय निदेशक की शिकायत पर पहला मामला 27 मार्च को 12वीं का अर्थशास्त्र का पर्चा लीक होने के संबंध में दर्ज किया गया जबकि दूसरा मामला 28 मार्च को 10वीं का गणित का पर्चा लीक होने के संबंध में दर्ज किया गया.

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani