रिटायरमेंट की उम्र में इस क्रिकेटर ने किया डेब्यू, तोड़ा सचिन-ब्रैडमैन का रिकॉर्ड

नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेटर एडम वोग्स ने 2015 में 35 साल की उम्र में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था और पहले ही टेस्ट में उन्होंने शानदार शतक जड़ा. इसी के साथ वोग्स इस उम्र में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण कर शतक बनाने वाले पहले उम्रदराज खिलाड़ी भी बन गए थे. उन्होंने अपने टेस्ट करियर में ऐसा खेल खेला कि सचिन तेंदुलकर और डॉन ब्रैडमैन के रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया. वोग्स का आज जन्मदिन है. वोग्स का जन्म 4 अक्टूबर 1979 को हुआ. उन्हें वेस्ट इंडीज के खिलाफ 3 जून 2015 को टेस्ट कैप मिली थी. उन्होंने अपने पहले ही मैच में ऐसी शानदार पारी खेली थी कि सचिन तेंदुलकर और डॉन ब्रैडमैन के रिकॉर्ड को तोड़ डाला था.

वोग्स ने डोमानिका में वेस्टइंडीज के खिलाफ इस मैच में नाबाद 130 रन बनाए थे. वोग्स ने अपने छोटे से करियर में कई ऐसे मुकाम बनाए, जिसके कारण उनका नाम आज रिकॉर्ड बुक में दर्ज है. बता दें कि डॉन ब्रैडमैन के बाद वोग्स ऐसे दूसरे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज हैं, जिनका 15 टेस्टों में औसत 95.50 का रहा.

एडम वोग्स ने वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन क्रिकेट इतिहास के दो सबसे बड़े बल्लेबाजों के रिकॉर्ड्स को तोड़कर अपना नाम सुनहरे अक्षरों में दर्ज कर लिया था. वोग्स ने सचिन तेंदुलकर के दो बार आउट होने के बीच बनाए सर्वाधिक रनों के रिकॉर्ड के साथ ही डॉन ब्रैडमैन का टेस्ट में सर्वाधिक औसत का रिकॉर्ड भी तोड़ डाला.

वोग्स ने सचिन के 12 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ा
सचिन तेंदुलकर ने 2003-2004 में दो बार आउट होने के बीच 497 रन बनाए थे. दिसंबर 2003 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न में आउट होने के बाद सचिन ने सिडनी में पहली पारी में 241 नाबाद तथा दूसरी पारी में 60 नाबाद रन बनाए थे. इसके बाद उन्होंने मुल्तान में पाकिस्तान के खिलाफ नाबाद 194 रन बनाए और फिर वे लाहौर में पाकिस्तान के खिलाफ 2 रन बनाकर आउट हुए. इस तरह उन्होंने दो बार आउट होने के बीच 497 रन बनाए थे.

वोग्स ने वेलिंगटन में नाबाद 176 रनों की पारी के दौरान सचिन तेंदुलकर का यह रिकॉर्ड तोड़ा था. जब वें 123 रन पर पहुंचे तब तक उन्होंने टेस्ट मैच में सचिन के 12 साल पहले दो बार आउट होने के बीच में बनाये 497 रन को पार कर लिया था. इससे पहले उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ होबार्ट में नाबाद 269 रन बनाए थे जबकि मेलबर्न में इंडीज के खिलाफ वो 106 रन बनाकर नाबाद रहे. न्यूजीलैंड के खिलाफ वेलिंगटन टेस्ट के दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक वो नाबाद 176 रन बना चुके थे. इस तरह वोग्स अभी तक दो बार आउट होने के बीच 551 रन जोड़ चुके थे.

ब्रैडमैन से बेहतर है वोग्स का औसत
वोग्स ने 19 टेस्ट मैचों में 100.33 की औसत से पांच शतकों की मदद से 1204 रन बनाए हैं. वोग्स का यह औसत टेस्ट में मिनिमम 1000 रन बनाने वाले बल्लेबाजों में सबसे ज्यादा है, उन्होंने टेस्ट में सर डॉन ब्रैडमैन के 99.94 के औसत को पीछे छोड़ा था.

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के शैफील्ड शील्ड में तस्मानिया के खिलाफ एक मैच के दौरान उनके सिर में चोट लग गई थी, जिसके बाद वह कभी वापसी नहीं कर सके. 38 वर्षीय वोग्स ने नवंबर के बाद से ऑस्ट्रेलिया की तरफ से कोई टेस्ट नहीं खेला है.

वोग्स ने 20 टेस्ट मैचों में 61.87 की औसत से 1,485 रन बनाए हैं, जिसमें पांच शतक और चार अर्धशतक शामिल हैं. उनका बेस्ट स्कोर 269 है जो उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ दिसंबर 2015 में बनाया था.

टेस्ट टीम का हिस्सा बनने से पहले वो ऑस्ट्रेलिया के लिए फरवरी 2007 से नवंबर 2013 तक 31 वनडे मैच और सात टी-20 मैच खेल चुके थे। वनडे में उन्होंने एक सेंचुरी के साथ 870 रन बनाए हैं। टी-20 में उन्होंने 139 रन बनाए हैं.

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani