शादी की पहली सालगिरह पर पत्नी ने लगाई फांसी

भोपाल। ‘मेरे पति ज्ञानदेव पाटिल ने मुझे मानसिक और शारीरिक परेशानी दी तो मैं खुदकुशी कर लूंगी।’ यह चंद लाइन उस पत्र की है, जो हर्षवर्धन नगर में रहने वाली मंजुषा गजभिए ने पिछले साल अगस्त में लिखा था। मंगलवार सुबह उसकी लाश घर में फांसी के फंदे पर लटकी मिली।

हैरान करने वाली बात यह है कि मंगलवार को ही मृतका की शादी की पहली वर्षगांठ थी। पति ड्यूटी से घर लौटा तब उसे खुदकुशी का पता चला। पुलिस को दिए बयान में ज्ञानदेव पाटिल ने इस बात को माना है कि सामान खरीदते समय , पैसों की कमी के कारण अक्सर उसका अपनी पत्नी से विवाद होता था।

टीटीनगर थाने के एएसआई शिवलाल सोलंकी ने बताया कि हर्षवर्धन नगर में मजार के पास किराये के मकान में रहने वाली 25 वर्षीय मंजुषा गजभिए पाटिल पति ज्ञानदेव पाटिल दस नंबर स्थित तरंग नाम के इलेक्ट्रॉनिक शोरूम पर अकाउंटेंट थी। ज्ञानदेव मंडीदीप में एक फैक्ट्री में नौकरी करता है।

मंगलवार की सुबह आठ बजे ज्ञानदेव पाटिल नाइट शिफ्ट खत्म करके घर पहुंचा तो दरवाजा अंदर से बंद था। काफी खटखटाने के बाद भी जब मंजुषा ने दरवाजा नहीं खोला तो उसने पंचशील नगर निवासी अपने ससुर को इसकी सूचना देकर घर बुलाया।

बावजूद जब मंजुषा ने दरवाजा नहीं खोला तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद दरवाजा तोड़ा गया तो मंजुषा फांसी पर लटकी मिली। पुलिस को घर की तलाशी के दौरान एक सुसाइड नोट मिला है। जो अगस्त 2016 को लिखा गया था।

16 मई 2016 को हुई थी शादी

मंजुषा की शादी 16 मई 2016 को छिंदवाड़ा निवासी ज्ञानदेव पाटिल से हुई थी। मंजुषा के मायके वाले पंचशील नगर में रहते हैं। पिता दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी हैं। उसकी दो बहनें और एक भाई है। जांच में सामने आया है कि शादी के कुछ दिनों बाद ही उसका पति से विवाद होने लगा।

जांच शुरू कर दी है

हर्षवर्धन नगर में महिला की खुदकुशी में एक नोट मिला है। वह पुराना लग रहा है। फिलहाल मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani