LOC पर खामोश हुईं बंदूकों की आवाजें, राहत शिविरों पहुंचे 3 हजार लोग

श्रीनगर. जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर यूं तो पिछले 24 घंटे में बंदूकों की आवाजें थम गई हैं लेकिन सीमा पार से होने वाली गोलीबारी से बचने के लिए राहत शिविरों में आश्रय लेने वालों की संख्या 3,361 तक पहुंच गई है.

सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पिछले 24 घंटे में पाकिस्तानी सेना की ओर कोई गोलीबारी नहीं की गई और न ही गोले दागे गए. पुंछ और राजौरी जिलों में गहरा सन्नटा पसरा हुआ है. लेकिन सीमा पार से अचानक गोलीबारी शुरू हो जाने की घटनाओं के कारण लोगों के बीच अब भी तनाव बन हुआ है.

पाकिस्तान ने 16 जून की रात संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए राजौरी जिले में एलओसी पर स्थित अग्रिम चौकियों पर गोलियां चलाईं थीं जिसमें सेना का एक जवान शहीद हो गया था. राजौरी के उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने कहा कि नौशेरा सेक्टर में संघर्ष विराम के उल्लंघन की घटनाओं को देखते हुए पिछले एक सप्ताह में शरणाथर्यिों की संख्या बढ़ गई है.कुल 839 परिवारों के 3361 लोग विभिन्न शिविरों में रह रहे हैं.

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani