रेल हादसा: चित्रकूट मेें वास्को डि गामा एक्सप्रेस के 13 डिब्बे पटरी से उतरे, 3 की मौत, 8 घायल

चित्रकुट के मानिकपुर स्टेशन पर देर रात एक बड़ा हादसा हो गया है। पटना जा रही वास्को डि गामा एक्सप्रेस(12741) ट्रेन मानिकपुर स्टेशन पर पलट गई। इस हादसे में तीन लोगों के मरने की खबर है। वहीं 8 लोग घायल हो गए। हालांकि रेलवे अधिकारी ने हादसे में किसी की भी मौत की खबर से इंकार कर दिया है।
हादसा मानिकपुर स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 2 पर हुआ। एडीजी आनंद कुमार की सक्रियता से 45 मिनट में राहत कार्य पूरा हुआ। राहत कार्य तेजी से शुरू किया गया है। सभी घायलों को डायल 100 की गाड़ियों से अस्पताल ले जाया गया। हादसे की वजह साफ नहीं हो पाई है।रेलवे के साथ एटीएस कानपुर की टीम हादसे की वजह की जांच करेंगी।

हादसे के चलते रेल बोर्ड के अध्यक्ष का इलाहाबाद दौरा रद्द हो गया है और वो घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं। अध्यक्ष कुम्भ 2019 की तैयारी की समीक्षा और प्रमुख स्टेशनों के निरीक्षण के लिए इलाहाबाद आने वाले थे। जानकारी के मुताबिक रेल हादसे की जांच में एनआईए भी मदद करेगी।

रेल मंत्री ने किया मुआवजे का ऐलान
दुर्घटना के बाद रेल मंत्रालय ने मृतक के परिजनों के लिए 5 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है। गंभीर रूप से घायल यात्रियों के लिए 1 लाख रुपये और घायलों के लिए 50 हजार रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है।

एडीजी लॉ ने की तीन की मौत की पुष्टि

उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार की मानें तो इस हादसे में अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है। हादसा सुबह चार बजकर 18 मिनट पर हुआ है। ट्रेन पटना जा रही थी तभी इसके 13 डिब्बे पटरी से उतर गए। कहा जा रहा है हादसा पटरी टूटने की वजह से हुआ है। मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है। वहीं रेस्क्यू टीम मौके पर मौजूद है और रेलवे के तमाम आला अधिकारी भी घटनास्थल पर मौजूद हैं। घायलों को अस्पताल पहुंचाया जा चुका है। पीआरओ अनिल सक्सेना की ओर से जानकारी दी गई है कि हादसे के बाद हेल्पलाइन नंबर शुरू कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि हेल्पलाइन नंबरों से अलग राहत और बचाव कार्य भी जारी है।
अधिकारी घटनास्थल के लिए रवाना
नॉर्दन सेंट्रल रेलवे (एनसीआर) के पीआरओर अमित मालवीय ने घटना के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि घायलों को अस्पताल ले जाया गया है और अधिकारी घटनास्थल के लिए निकल चुके हैं। उन्होंने आगे जानकारी दी कि घटना के तुरंत बाद ही एक मेडिकल ट्रेन घटनास्थल के लिए रवाना कर दी गई और सुबह 5:20 मिनट पर राहत कार्य के लिए ट्रेन पहुंच चुकी थी। डिविजनल रेलवे मैनेजर (डीआएम) इलाहाबाद से पहले ही घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं और एनसीआर के जनरल मैनेजर पर रवाना हो चुके हैं।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani