शादी व तलाक के लिए तीन बार बदला धर्म, खुद को बताया कैंसर मरीज

भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। कैंसर का नाम सुनते ही कोई भी कांप जाता है, लेकिन एक युवक ने अपनी बीवी से छुटकारा पाने के लिए खुद को कैंसर रोगी बता दिया। वह भी शादी के तीन महीने बाद ही। युवक ने खुद को कैंसर मरीज बताने के लिए फर्जी तरीके से डॉक्टरों के पर्चे और जांच रिपोर्ट भी बना ली। दरअसल, वह एक दूसरी लड़की से निकाह करना चाहता था, इसलिए यह तरीका अपनाया। पुरानी बीवी से तलाक व दूसरी लड़की से निकाह के लिए उसने तीन बार धर्म भी बदला। पीड़ित पहली बीवी ने जेपी अस्पताल स्थित गौरवी केन्द्र में शिकायत की है।

दरअसल, भोपाल की 27 साल की एक युवती की शादी इसी साल मुंबई के एक युवक से हुई थी। युवती पोस्ट ग्रेज्युएट है। पहले से ही दोनों में कुछ रिश्तेदारी थी, इसलिए दोनों पक्षों में किसी तरह का संदेह नहीं था। शादी के तीन महीने बाद पति का असली चेहरा सामने आ गया। उसने पत्नी से कहा कि उसे कैंसर की गंभीर बीमारी है। ज्यादा दिन की जिंदगी नहीं है। तलाक लेकर दूसरी शादी कर लो, जिससे तुम्हारी जिंदगी खुशहाल रहेगी।

मुझे तो मरना ही है। यह सुन पत्नी भावुक हो गई। उसने कुछ दिन के लिए पत्नी को भोपाल उसके मायके भेज दिया। इसके बाद युवक ने 17 साल की लड़की से निकाह कर लिया। इसके लिए उसने धर्म परिवर्तन किया। पुरानी पत्नी जब मुंबई को गई तो उसे निकाह की जानकारी मिली। उसने अस्पताल जाकर पड़ताल की तो पता चला कि पति के कैंसर के इलाज के पर्चे भी झूठे थे।

पुरानी पत्नी से अनबन के बाद तलाक की नौबत आ गई। तलाक देने के लिए उसने फिर अपना धर्म बदला। इसके साथ ही युवक की मुश्किल और बढ़ गई। नई बीवी के घरवालों ने युवक के सामने दोबारा निकाह की शर्त रख दी। उनका कहना था पहले निकाह के समय लड़की की उम्र 18 साल से कुछ कम थी, इसलिए दोबारा निकाह करना होगा। लिहाजा उसने फिर धर्म बदल लिया। गौरवी की काउंसलर्स ने बताया युवक काउंसलिंग के लिए भी नहीं आ रहा है न ही फोन पर बात कर रहा है।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani