शादी के 11 दिन बाद पुलिस को किया फोन और बताया ये सच

सिरोंज, विदिशा। शादी के 11 दिनों बाद एक किशोरी ने खुद को नाबालिग बताते हुए परिजनों पर जबरदस्ती शादी कराने का आरोप लगाया है। किशोरी ने इसकी शिकायत पुलिस से की है।

किशोरी की शिकायत पर पुलिस उसे लेकर महिला बाल विकास विभाग की परियोजना अधिकारी के पास पहुंची। परियोजना अधिकारी का कहना है कि किशोरी को बाल कल्याण आश्रम भेजा जाएगा।

मालूम हो जिले में बाल विवाह को रोकने के लिए जिला प्रशासन एवं महिला बाल विकास विभाग द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसके बावजूद सिरोंज क्षेत्र में सामने आई इस घटना ने विभागीय दावों की पोल खोलकर रख दी है।

जानकारी के अनुसार बासौदा तहसील के ग्राम बनवासा निवासी एक किशोरी की शादी 24 अप्रैल को ग्राम मनाखेड़ी में हुई थी। शादी के बाद यह किशोरी अबुआढाना निवासी अपने मामा के यहां पर आई थी। गुरूवार को इस किशोरी ने डायल 100 को फोन कर उसकी शादी जबरदस्ती करने और खुद को नाबालिग बताते हुए शिकायत की।

जिस पर डायल 100 के कर्मचारी किशोरी के घर पहुंचे। यहां से वे किशोरी को लेकर सिरोंज थाने आए। किशोरी ने पुलिस को बताया कि उसकी उम्र महज 14 साल है। इसके बावजूद परिजनों ने जबरदस्ती उसका विवाह करा दिया। वह अपने ससुराल में नहीं रहना चाहती है।

बाल कल्याण आश्रम में रहेगी किशोरी

सिरोंज पुलिस थाने के टीआई स्वराज डाबी के मुताबिक किशोरी की शिकायत पर वे उसे महिला एवं बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी के पास ले गए थे। जहां किशोरी ने अपने परिजनों के साथ नहीं रहने की बात कही। परियोजना अधिकारी कृतिका व्यास का कहना था कि किशोरी ने लिखित शिकायत कर बाल विवाह कराने की बात कही है। जिसकी जांच की जाएगी। उनका कहना था कि यह किशोरी अपने ससुराल में और मायके पक्ष में नहीं रहना चाहती है। इसलिए उसे बालिका कल्याण आश्रम भोपाल में रखा जाएगा।

लाड़ो अभियान की खुल रही पोल

शासन के द्वारा बाल विवाह जैसी प्रथा पर रोक लगाने के लिये लाड़ो अभियान चलाया जा रहा है। जिनमें आंगनवाडी कार्यकर्ता , सहायिका, सरपंच, सचिव तथा शिक्षकों के साथ महिला बाल विकास एवं राजस्व विभाग भी अभियान से जोड़े गए हैं। इसके बावजूद अभियान सफल होता नहीं दिखाई दे रहा। लाड़ो अभियान के तहत विवाह के लिए लड़की की उम्र 18 वर्ष तथा लड़के की उम्र 21 वर्र्ष अनिवार्य होने की जानकारी लोगों को दी जा रही है। लेकिन जागरुकता की कमी के कारण इस अभियान का कोई असर होता दिखाई नहीं दे रहा।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani