मध्यप्रदेश : भाजपा नेता ने कहा करप्शन हटाओ, पार्टी ने उसे ही बाहर किया

भोपाल। भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने वाले BJP के वरिष्ठ नेता राज चड्ढा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है। प्रदेश BJP अध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने राज चड्ढा को नोटिस देकर 7 दिन के भीतर जवाब मांगा है। नंदकुमार के इस फैसले को पार्टी में भीतर पनप रहे असंतोष को अनुशासन के डंडे के दम पर दबाने की कोशिश माना जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि ग्वालियर के राज चड्ढा प्रदेश के वरिष्ठ BJP नेताओं में गिने जाते हैं। वह स्वर्गीय विजया राजे सिंधिया के करीबी रहे हैं। ग्वालियर जिला BJP के अध्यक्ष रहने के साथ-साथ राज चड्ढा ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण के अध्यक्ष भी रहे हैं।

अभी कुछ दिन पहले राज चड्ढा ने फेसबुक पर अस्पतालों में व्याप्त भ्रष्टाचार का उल्लेख करते हुये लिखा था- शिवराज जी या तो भ्रष्टाचार खत्म कीजिए या फिर हम जैसे कार्यकर्ताओं को पार्टी से बाहर कर दीजिए। BJP नेतृत्व ने उनकी पहली बात तो नही सुनी लेकिन दूसरी पर अमल कर लिया है। पार्टी के ऐक्शन के बाद चड्ढा ने फेसबुक पर दूसरी पोस्ट में लिखा- हे प्रभु, मेरी पार्टी की रक्षा करना। यह तुझ पर कोड़े बरसाने वालों को सिर पर बिठा रही है और तेरे लिए कोड़े खाने वालों को बाहर का रास्ता दिखा रही है।

पार्टी के अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि अब BJP उन्हीं परिस्थितियों में पहुंच गयी है जिनमें 10 साल के दिग्विजय के शासन के बाद कांग्रेस पहुंची थी। आंतरिक अराजकता चरम पर है। खुद मुख्यमंत्री द्वारा पिछले दिनों दिये गये बयान यह बताते हैं कि उनका अपने मंत्रिमंडल के सदस्यों पर ही नियंत्रण नही है। भ्रष्टाचार के खिलाफ पार्टी के भीतर अलग-अलग फोरम पर आवाज उठ रही है।

सूत्रों के मुताबिक सोमवार सुबह मुख्यमंत्री निवास में हुई BJP प्रदेश कोर कमिटी की बैठक में भी वर्तमान हालात पर विचार हुआ। दिल्ली से आये नेताओं ने प्रदेश नेतृत्व को सलाह दी है कि वे कार्यकर्ताओं को तवज्जों दें।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani