बदलाव: आज से बदल गए ये 5 नियम, पेट्रोल-डीजल, रियल स्टेट, पीएफ…

नई दिल्ली।आज 1 मई 17 से देश में कई नियम बदल रहे हैं। इनमें पेट्रोल-डीजल के दामों से लेकर रियल स्टेट में बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। इन बदलावों से नागरिकों के रोजमर्रा की जिंदगी पर काफी असर पड़ सकता है।

रोजाना तय होंगे पेट्रोल-डीजल के दाम

चुनिंदा शहरों में पेट्रोल-डीजल के दाम अंतरराष्ट्रीय मूल्यों के अनुसार रोजाना बदलने की नीति आज से लागू हो गई। पुडुचेरी, विशाखापटनम, उदयपुर, जमशेदपुर और चंडीगढ़ में इसकी शुरुआत हुई है। सफलता मिलने पर यह नीति देश भर में लागू होगी।

लाल बत्ती के इस्तेमाल पर रोक

प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्रियों, केंद्र और राज्य के मंत्रियों जैसी विशिष्ट हस्तियों के वाहनों पर लाल बत्ती न होने का कानून लागू हो जाएगा। सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के जज भी इसमें शामिल होंगे। केंद्र सरकार ने 21 अप्रैल को इसका फैसला किया था।

कुछ ही घंटों में पीएफ की निकासी हो सकेगी

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने एक मई से ऑनलाइन पीएफ निकासी और पेंशन निर्धारण की सुविधा देने का ऐलान किया है। इससे कुछ घंटों में पीएफ की निकासी हो सकेगी और कागजी झंझटों से बचा जा सकेगा। शुरुआत में कुछ केंद्रों से इसकी शुरुआत होगी।

बिल्डरों की मनमानी पर लगेगी लगाम

आज से रियल इस्टेट अधिनियम, 2016 लागू होगा जिसमें खरीदार राजा होगा। इस अधिनियम से खरीदारों तथा डेवलपर्स दोनों की स्थिति जीत वाली होगी। इसमें खरीदारों, डेवलपर्स तथा रियल स्टेट एजेंटों के अधिकार और दायित्व साफ तौर पर परिभाषित होंगे और कोई भी असंतुष्ट पार्टी नियमों के उल्लंघन के मामले में हर्जाने की मांग कर सकती है। हरेक राज्य और केंद्रशासित प्रदेश को अपनी रेग्युलेटरी अथॉरिटी बनानी होगी जो ऐक्ट के मुताबिक नियम-कानून बनाएगी।

दंपति अब मनपसंद बच्चा गोद नहीं ले सकेंगे

बच्चा गोद लेने के इच्छुक दंपति अब मनपसंद बच्चे का चुनाव नहीं कर सकेंगे। बल्कि उन्हें बच्चा गोद लेने की सुविधा देने वाले राष्ट्रीय निकाय की ओर से दिए जाने वाले बच्चे को ही स्वीकार करना होगा। हालांकि, दंपति को प्रस्ताव को खारिज करने का अधिकार होगा। नया नियम एक मई से लागू हो गया है।

अधिकारियों ने कहा कि अब तक सरकार के एडॉप्शन पोर्टल केर्यंरग्स में पंजीकरण कराने वाले दंपतियों को तीन तक बच्चे दिखाए जाते थे, जिनमें से वे एक को चुन सकते थे। अब यह चलन खत्म हो गया है और दंपतियों को एक ही बच्चा दिखाया जाएगा।

20 दिन के भीतर प्रक्रिया पूरी करनी होगी

सरकार ने गोद लेने की प्रक्रिया को जल्द पूरी करने पर जोर दिया है। कुमार ने कहा, दंपति बच्चे का प्रोफाइल भेजे जाने के बाद 48 घंटे के भीतर उसे गोद लेने को अपनी मंजूरी दे सकते हैं। इसके बाद कोर्ट से गोद लेने के आदेश पत्र हासिल करने की प्रक्रिया को 20 दिनों में पूरा किया जाएगा।

RO-11436/55

11359/79

11363/40

Recommended For You

About the Author: india vani